गांधी परिवार नहीं चाहता था कि मोदी और अमित शाह जीवित रहें: रामदेव

देश
Updated Sep 25, 2019 | 13:03 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

रामदेव ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि गांधी परिवार नहीं चाहता था कि अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जीवित रहें। उन्होंने पी चिदंबरम पर भी जमकर निशाना साधा।

Ramdev
रामदेव 

नोएडा: योग गुरु रामदेव ने मंगलवार को एक बार फिर कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि अमित शाह को जेल भेजने के पीछे गांधी परिवार था। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व पार्टी प्रमुख राहुल गांधी का नाम लेते हुए रामदेव ने नोएडा में एक कार्यक्रम में कहा कि दोनों नेता कभी नहीं चाहते थे कि शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जीवित रहें। उन्होंने आरोप लगाया कि गांधी परिवार चाहता था कि शाह जेल में ही मर जाएं।

साथ ही पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री पी. चिदंबरम पर निशाना साधते हुए रामदेव ने कहा कि देश के कानून को तोड़ना और ईश्वरीय नियम को तोड़ना दोनों ही अनुचित हैं। रामदेव ने कहा कि चिदंबरम जेल में बंद हो गए क्योंकि उन्होंने कानून तोड़ा। पी चिदंबरम, जिन्होंने अमित शाह को जेल भेजा था उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि वह खुद कानूनी मुसीबत में पड़ जाएंगे। 

योग गुरु ने कहा, 'मैंने कभी जमीन का कानून नहीं तोड़ा। न ही मैंने कभी ईश्वरीय नियम का उल्लंघन किया है। कभी भी नियम न तोड़ें। यदि आप ऐसा करते हैं, तो आप वहां होंगे जहां आज चिदंबरम हैं। एक दिन मैंने जस्टिस हेगड़े से पूछा कि उन्हें क्या लगता है कि जीवन का सबसे बड़ा सिद्धांत क्या है, जिसका पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी को भी कानून नहीं तोड़ना चाहिए।' 

उन्होंने यह भी कहा कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी दोनों कानूनी जांच का सामना कर रहे हैं।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए रामदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री के पास बड़ी और समृद्ध पृष्ठभूमि नहीं है। रामदेव ने कहा, 'मोदी हमारे देश की भलाई के लिए काम करने वाले एक साधारण व्यक्ति हैं।'

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर