CAA समर्थकों ने खींचे महिला डिप्टी कलेक्टर के बाल, प्रदर्शन के दौरान हमला, देखें [VIDEO]

मध्य प्रदेश में सीएए के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प के दौरान एक प्रदर्शनकारी ने राजगढ़ की डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के बाल खींच दिए।

protestor pulls hair of Rajgarh Deputy Collector Priya Verma
महिला डिप्टी कमिश्नर के खींचे बाल  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • मध्यप्रदेश में पुलिस और सीएए समर्थक प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़प
  • भीड़ को हटाने के दौरान प्रदर्शनकारी ने खींचे महिला डिप्टी कलेक्टर के बाल
  • सामने आया राजगढ़ की डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा पर हमले का VIDEO

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश से एक डिप्टी कलेक्टर पर हमले का वीडियो सामने आया है। यहां सीएए के समर्थन में प्रदर्शन के बीच भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प हो गई। इसी दौरान एक प्रदर्शनकारी ने राजगढ़ की डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के बाल खींच दिए। पुलिस प्रशासन प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश कर रहा था और रास्ते के बीच में प्रदर्शन कर रहे लोगों को हटा रहा था।

वीडियो में दिख रहा है कि पुलिस के प्रदर्शनकारियों को हटाने के दौरान डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा एक प्रदर्शनकारी को थप्पड़ मारने लगीं और इसी दौरान भीड़ में मौजूद किसी प्रदर्शनकारी ने डिप्टी कलेक्टर के बाल खींचे। देश भर में जहां एक ओर सीएए को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं वहीं कई जगह बीजेपी कार्यकर्ता और समर्थक इसके समर्थन में भी प्रदर्शन कर रहे हैं।

इस घटना पर मध्यप्रदेश पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौंहान का बयान सामने आया है। उन्होंने महिला अधिकारी पर कार्रवाई के लिए हमला किया है। पूर्व सीएम ने लिखा, 'राजगढ़ में मेरे निर्दोष नागरिक और कार्यकर्ता भारत की संसद द्वारा बनाये गए कानून के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे थे, क्या यह अपराध है? कलेक्टर साहिबा, कांग्रेस सरकार पर तो जनता का विश्वास कभी था ही नहीं, क्या आप चाहती हैं कि लोग शासन-प्रशासन पर भी भरोसा करना छोड़ दें?'

सीएम शिवराज ने इस विषय पर कई ट्वीट किए। उन्होंने कहा, 'क्या कलेक्टरी का इतना ज्यादा नशा छा गया कि आप गली के गुंडे-बदमाशों की तरह नागरिकों को पीटने लगीं? असभ्यता और अनैतिकता की सारी हदें पार की जा चुकी हैं। लोकतंत्र का उपहास है राजगढ़ की घटना! कांग्रेस सरकार प्रदेश के नागरिकों को दबाने और कुचलने में अब अधिकारियों का सहारा ले रही है!'

शिवराज ने आगे कहा, 'मध्यप्रदेश में ऐसे अधिकारी, जो चाटुकारिता के नशे में अपनी सीमाएं लांघ रहे हैं, उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। कांग्रेस सरकार के साथ-साथ अब शासन-प्रशासन की मानसिकता भी हिंसक हो गई है, जिसका अहिंसक विरोध हम प्रदेशवासियों के साथ करेंगे! हिंसक मानसिकता का अहिंसक विरोध!'

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर