पूर्वोत्तर, बंगाल के बाद मोदी सरकार ने दिल्ली को जलने छोड़ दिया है: कांग्रेस

देश
Updated Dec 16, 2019 | 00:52 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Congress on Jamia protest: दिल्ली में जामिया यूनिवर्सिटी में छात्रों पर पुलिस की कार्रवाई की कांग्रेस ने निंदा की है। कांग्रेस ने कहा बीजेपी ने असम, त्रिपुरा और मेघालय के बाद दिल्ली को जलने के लिए छोड़ दिया है।

Jamia protest
जामिया के छात्रों को पुलिस ने परिसर से बाहर निकाला 

नई दिल्ली: जामिया मिल्लिया यूनिवर्सिटी परिसर में पुलिस की कार्रवाई के लिए केंद्र की भाजपा सरकार को दोषी ठहराते हुए कांग्रेस ने रविवार को आरोप लगाया कि वह देश में शांति बनाए रखने में नाकाम रही है। साथ ही कहा कि असम, त्रिपुरा और मेघालय के बाद दिल्ली को जलने के लिए छोड़ दिया गया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल ने जामिया के छात्रों पर क्रूर कार्रवाई की निंदा करते हुए संयम बरतने की अपील की।

कांग्रेस ने ट्वीट किया, 'पूर्वोत्तर से लेकर असम, पश्चिम बंगाल और अब दिल्ली में। भाजपा सरकार राष्ट्र में शांति बनाए रखने के अपने कर्तव्य पर विफल रही है। उन्हें जिम्मेदारी लेनी चाहिए और हमारे देश में शांति बहाल करनी चाहिए।'

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पूछा कि क्या यह उचित है कि पुलिस ने जामिया विश्वविद्यालय परिसर के पुस्तकालय में प्रवेश किया और छात्रों के साथ मारपीट की और उन पर आंसू गैस के गोले दागे। 

सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, 'दिल्ली जल रही है, असम, त्रिपुरा, मेघालय जल रहा है, बंगाल में हिंसा फैली है, गृह मंत्री को उत्तरपूर्व जाने की हिम्मत नही, जापान के PM का दौरा रद्द करना पड़ा, पर मोदीजी झारखंड में चुनाव प्रचार में मगन हैं। जो विरोध करे वो देशद्रोही करार। जामिया इसका ताजा उदाहरण है।' 

एक और ट्वीट में उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा जामिया यूनिवर्सिटी में लाइब्रेरी-हॉस्टल में घुस कर आंसू गैस छोड़ना, युवाओं को मारना पीटना कहां वाजिब है? क्या छात्र सविंधान की आत्मा पर  CAB के खिलाफ विरोध नही कर सकते?

जामिया के चीफ प्रॉक्टर वसीम अहमद खान ने दावा किया कि दिल्ली पुलिस के कर्मी बगैर इजाजत के जबरन विश्वविद्यालय में घुस गए और कर्मचारियों तथा छात्रों को पीटा तथा उन्हें परिसर छोड़ने के लिए मजबूर किया। हालांकि, पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारियों के हिंसा में संलिप्त होने के बाद वे केवल स्थिति नियंत्रित करने के लिए विश्वविद्यालय परिसर में घुसे थे।

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...