PM Modi on CAB: नागरिकता संशोधन विधेयक पास होने पर PM मोदी ने की अमित शाह की तारीफ

देश
Updated Dec 10, 2019 | 00:38 IST

Citizenship Amendment Bill:लोकसभा से नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रसन्नता जाहिर की है। उन्होंने बिल की हर बात समझाने और सवालों के जवाब देने के लिए अमित शाह की भी तारीफ की।

Modi-shah
नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होने पर पीएम मोदी ने जताई खुशी 

नई दिल्ली: लोकसभा ने नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 को मंजूरी दे दी है। विधेयक के पक्ष में 311 मत और विरोध में 80 मत पड़े। बिल पास होने के तुरंत बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर खुशी जाहिर की। पीएम मोदी ने गृह मंत्री अमित शाह की भी तारीफ की। लोकसभा में बिल पर 6-7 घंटे तक बहस चली, जिसके बाद देर रात ये बिल पास किया गया। 

बिल पारित होने के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, 'प्रसन्नता है कि लोकसभा ने एक समृद्ध और व्यापक बहस के बाद नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 पारित किया है। मैं विभिन्न सांसदों और पार्टियों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने विधेयक का समर्थन किया। यह विधेयक भारत के सदियों पुराने लोकाचार और मानवीय मूल्यों में विश्वास के अनुरूप है।' 

एक और ट्वीट में उन्होंने कहा कि मैं नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 के सभी पहलुओं को स्पष्ट रूप से समझाने के लिए गृह मंत्री अमित शाह जी की विशेष रूप से सराहना करना चाहूंगा। उन्होंने लोकसभा में चर्चा के दौरान संबंधित सांसदों द्वारा उठाए गए विभिन्न बिंदुओं के विस्तृत जवाब भी दिए। 

इस बिल में अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है। मुस्लिमों को इसमें नहीं जोड़ा गया है, जिसे लेकर लगातार हंगामा हो रहा है और विधेयक का विरोध भी किया जा रहा है।  

इसके जवाब में अमित शाह ने कहा कि जिन देशों को इसमें शामिल किया गया है, वहां मुसलमान अल्पसंख्यक नहीं है, अगर वो होते तो उन्हें भी जोड़ा जाता। शाह ने कहा कि यह विधेयक लाखों करोड़ों शरणार्थियों के यातनापूर्ण नरक जैसे जीवन से मुक्ति दिलाने का साधन बनने जा रहा है। 

उन्होंने कहा कि यह विधेयक कहीं से भी असंवैधानिक नहीं है और संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन नहीं करता है। अगर इस देश का विभाजन धर्म के आधार पर नहीं होता तो मुझे विधेयक लाने की जरूरत ही नहीं पड़ती।

गृह मंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री रहते हुए देश में किसी धर्म के लोगों को डरने की जरूरत नहीं है। यह सरकार सभी को सम्मान और सुरक्षा देने के लिए प्रतिबद्ध है। जब तक मोदी प्रधानमंत्री हैं, संविधान ही सरकार का धर्म है। उन्होंने कहा कि शरणार्थी और घुसपैठिए के बीच अंतर होता है। जो लोग उत्पीड़न के कारण, अपने धर्म और अपने परिवार की महिलाओं के सम्मान को बचाने के लिए आते हैं, वे शरणार्थी हैं और जो लोग अवैध रूप से यहां आते हैं, वे घुसपैठिए हैं। इसके साथ ही उन्होंने स्पष्ट किया कि रोहिंग्या को कभी स्वीकार नहीं किया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि एनआरसी आकर ही रहेगा और फिर एक भी घुसपैठिया नहीं बचेगा।

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...