'Howdy Modi' के लिए पीएम मोदी ने मांगे सुझाव, जानें कैसे रख सकते हैं अपने विचार

देश
श्वेता कुमारी
Updated Sep 17, 2019 | 09:06 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के ह्यूस्टन में Howdy Modi कार्यक्रम को 22 सितंबर को संबोधित करेंगे। इस मौके पर अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी मौजूद रहेंगे।

Narendra Modi
पीएम मोदी अमेरिका में रविवार को भारतीय समुदाय के लोगों से मुखातिब होंगे  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • पीएम मोदी अमेरिका के ह्यूस्‍टन में भारतीय-अमेरिकी समुदाय को संबोधित करेंगे
  • 22 सितंबर को होने वाले इस संबोधन को लेकर प्रवासी भारतीयों में उत्‍साह है
  • इस दौरान पीएम मोदी के साथ अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप भी मौजूद रहेंगे

नई दिल्‍ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेरिका में होने वाले 'आउडी मोदी' कार्यक्रम को लेकर खासकर प्रवासी भारतीयों में खासा उत्‍साह है। इसे भारत-अमेरिका संबंधों को मजबूत बनाने की कवायद के तौर पर भी देखा जा रहा है, जिसका आयोजन रविवार, 22 सितंबर को ह्यूस्‍टन में होना है। इस दौरान अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप भी वहां मौजूद रहेंगे, जो दोनों देशों के बीच खास मैत्री को दर्शाने वाला है। इस बीच पीएम मोदी ने अपने होने वाले इस कार्यक्रम को लेकर लोगों से सुझाव मांगे हैं।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लोगों से अपने भाषण के लिए विचार साझा करने को कहा है। उन्‍होंने कहा कि वह इनमें से कुछ का अपने भाषण में जिक्र करेंगे। इससे संबंधित विचार लोग नमो एप पर 'ओपन फोरम' के जरिये साझा कर सकते हैं।

ट्रंप भी होंगे साथ
ह्यूस्‍टन में होने वाले इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ अमेरकी राष्‍ट्रपति ट्रंप भी भारतीय समुदाय के लोगों से मुखातिब होंगे। हालिया इतिहास में यह पहली बार है जब दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के नेता एक संयुक्त रैली को संबोधित करने जा रहे हैं। इसे ट्रंप प्रशासन के दौरान भारत-अमेरिका संबंधों में नई घनिष्ठता पर बल देने वाला बताया जा रहा है। हालांकि चुनावी तैयारियों के बीच भारतीय-अमेरिकी नागरिकों को पीएम मोदी के साथ ट्रंप के संबोधित करने को उनकी चुनावी रणनीति के तौर पर भी देखा जा रहा है।

भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लोगों के बीच पीएम मोदी की लोकप्रियता और अमेरिका में होने वाले चुनाव में इनकी महत्‍वपूर्ण भूमिका को देखते हुए माना जा रहा है कि ट्रंप इसके जरिये इस समुदाय का समर्थन जुटाना चाहते हैं। वह इससे पहले भी 2016 के चुनाव में भी बड़ी संख्‍या में भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिकों को संबोधित कर चुके हैं। माना जा रहा है कि एक बार फिर वह भारतीय-अमेरिकी समुदाय को यकीन दिलाना चाहते हैं कि यदि वह दोबारा निर्वाचित हुए तो व्हाइट हाउस में भारत के सबसे अच्छे दोस्त साबित होंगे।

50 हजार लोगों ने कराया पंजीकरण
पीएम मोदी का यह खास कार्यक्रम ह्यूस्टन के विशाल एनआरजी स्टेडियम में होगा, जिसके लिए अमेरिका से 50,000 से अधिक भारतीय-अमेरिकी नागरिकों ने पंजीकरण कराया है। इस कार्यक्रम को 'हाउडी, मोदी। साझा सपने, उज्ज्वल भविष्य' नाम दिया गया है। यहां यह भी उल्‍लेखनीय है कि कार्यक्रम को दिया गया Howdy नाम How Do You Do का संक्षिप्त रूप है, जिसका इस्‍तेमाल खास तौर पर दक्षिण-पश्चिम अमेरिका में अभिवादन के लिए किया जाता है। हिन्‍दी में इसका अर्थ 'आप कैसे हैं' होता है।

पीएम मोदी ने फ्रांस में हुए जी-7 शिखर सम्मेलन के दौरान ट्रंप के साथ हुई मुलाकात में अमेरिकी राष्‍ट्रपति से इस कार्यक्रम में शामिल होने का अनुरोध किया था, जिसे उन्‍होंने तत्काल स्वीकार कर लिया। पीएम मोदी और ट्रंप की यह इस साल तीसरी मुलाकात होगी। राष्‍ट्रपति ट्रंप के अतिरिक्‍त डेमोक्रेट सीनेटर स्टेनी होयर भी पीएम मोदी के खास कार्यक्रम 'हाउडी मोदी' में हिस्सा लेंगे।

यह 2014 में पहली बार प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएम मोदी का भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लोगों को संबोधित करने का तीसरा और इस साल मई में दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद इस तरह का पहला बड़ा कार्यक्रम होगा। पीएम मोदी का इस तरह का पहला कार्यक्रम 2014 में मैडिसन स्क्वायर में, दूसरा कार्यक्रम सिलिकन वैली में 2016 में हुआ था। इन दोनों कार्यक्रमों में 20,000 से अधिक लोग शामिल हुए थे।

 

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर