सुषमा स्वराज के अंतिम दर्शन करते समय पीएम मोदी और आडवाणी हुए भावुक, कही ये बात

देश
Updated Aug 07, 2019 | 18:32 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

पूर्व विदेश मंत्री और बीजेपी की सीनियर नेता सुषमा स्वराज के निधन से दुखी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी भावुक हो गए। 

LK Advani, PM Modi
LK Advani, PM Modi   |  तस्वीर साभार: ANI

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने बुधवार को भावुक हो गए। जब उन्होंने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के घर जाकर उनका अंतिम दर्शन किया और उन्हें श्रद्धांजलि दी। हार्ट अटैक के बाद सुषमा का मंगलवार को एम्स में निधन हो गया। वह बीजेपी की सबसे प्रमुख महिला चेहरा थीं। वह 25 साल की उम्र में कैबिनेट मंत्री थीं, जब वह 1977 में हरियाणा सरकार में शामिल हुई थीं और दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री थीं।

सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देने के बाद पीएम मोदी ने सुषमा की बेटी बांसुरी के प्रति अपना संवेदना व्यक्त की और उनके पति स्वराज कौशल से बात की। उनके पति कौशल से बात करते समय पीएम को अपनी आंखों में आंसू रोकते हुए देखा गया जब उन्होंने सुषमा को ताबूत में देखा था। सुषमा के निधन के बाद मंगलवार को पीएम मोदी ने ट्वीट्स की एक सीरीज में  उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा था कि यह मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है और उनके द्वारा भारत के लिए किए गए हर काम के लिए उन्हें याद किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि भारतीय राजनीति में एक शानदार अध्याय समाप्त गया। भारत एक अद्भुत नेता के निधन पर शोक व्यक्त करता है। जिन्होंने अपना जीवन सार्वजनिक सेवा और गरीबों के लिए समर्पित किया। सुषमा स्वराज जी अपनी तरह की नेता थी, जिन्हें करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत थीं। शानदार वक्ता और उत्कृष्ट सांसद के रूप में याद करते हुए उन्होंने कहा कि वह भाजपा की विचारधारा और हितों के मामलों में कभी समझौता नहीं कीं। बीजेपी के आगे बढ़ने में उनका बहुत बड़ा योगदान रहा।

 

अपने पहले कार्यकाल के दौरान भारत के विदेश मंत्री के रूप में उनके योगदान को याद करते हुए, प्रधान मंत्री ने कहा कि सुषमा ने विभिन्न देशों के साथ भारत के संबंधों को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने कहा, मैं पिछले 5 वर्षों में EAM के रूप में सुषमा जी के काम करने के तरीके को नहीं भूल सकता। यहां तक कि जब उनकी तबीयत ठीक नहीं थी, तब भी वह अपने काम के साथ न्याय करने के लिए हर संभव कोशिश करती रहीं। अपने मंत्रालय के साथ बनी रहीं। उनकी स्प्रिट और प्रतिबद्धता अद्वितीय थी। उन्होंने कहा, मेरी भावना उनके परिवार, समर्थकों और प्रशंसकों के साथ हैं। यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण समय है।

सुषमा के राजनीतिक गुरु माने जाने वाले लाल कृष्ण आडवाणी भी भावुक हो गए जब उन्होंने उनके आवास पर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। अपनी बेटी प्रतिभा के साथ एलके आडवाणी सुषमा की बॉडी के पास एक मिनट के लिए देखा गया। इस दौरान वे अपनी भावनाओं और आंसू पर नियंत्रण करते हुए देखा गया। इससे पहले अपनी संवेदना में आडवाणी ने कहा कि सुषमा के निधन के साथ देश ने एक अद्भुत नेता खो दिया है। उन्होंने कहा, 'मेरे लिए, यह एक अपूरणीय क्षति है और मैं सुषमाजी की उपस्थिति को बहुत याद करूंगा।' 

 

दिग्गज नेता ने यह भी याद किया कि जब मैं बीजेपी अध्यक्ष था तब किस तरह स्वराज को पार्टी में शामिल किया था, उस समय वह एक युवा एक्टिविस्ट थीं उन्होंने कहा, 'वह हमारी पार्टी के सबसे लोकप्रिय और प्रमुख नेताओं में से एक बन गईं, वास्तव में, महिला नेता के लिए एक रोल मॉडल हैं। मुझे कोई ऐसा एक साल याद नहीं है जब वह मेरे जन्मदिन पर मेरे लिए मेरे पसंदीदा चॉकलेट केक लाने से चूक गई हों।

 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर