मथुरा में पीएम मोदी की लोगों से अपील-प्लास्टिक से छुटकारे की मुहिम आगे बढ़ाएं 

देश
Updated Sep 11, 2019 | 14:29 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

प्रधानमंत्री मोदी मथुरा में राष्ट्रीय पशु बीमारी नियंत्रण कार्यक्रम के उद्घाटन के मौके पर कचरे से प्लास्टिक चुनने वाली महिलाओं के साथ फर्श पर बैठे और उनसे बातें करने के साथ-साथ उनके अनुभव एवं विचार सुने।

PM Modi appeals people to say no to single use plastic in Mathura
मथुरा में प्लास्टिक बिनने वाली महिलाओं से मिले पीएम मोदी।  |  तस्वीर साभार: ANI

नई दिल्ली : एक दफा प्रयोग में आने वाले प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के अपने प्रयासों को तेज करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को लोगों से इस अभियान को सफल बनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि हमें 2 अक्टूबर 2019 तक अपने घरों, कार्यालयों एवं कार्यस्थलों पर एक बार इस्तेमाल में आने वाले प्लास्टिक से छुटकारा पाने के प्रयास करने की जरूरत है। प्रधानमंत्री ने इस मिशन के लिए स्वयंसहायता समूहों, सिविल सोसायटी और आम नागरिकों को आगे आने की अपील की। पीएम ने इस मौके पर कचरे से प्लास्टिक चुनने वाले मजदूरों के साथ मुलाकात की और उनसे इस बारे में बातें कीं।

प्रधानमंत्री मोदी मथुरा में राष्ट्रीय पशु बीमारी नियंत्रण कार्यक्रम के उद्घाटन के मौके पर कचरे से प्लास्टिक चुनने वाली महिलाओं के साथ फर्श पर बैठे और उनके अनुभव एवं विचार सुने। पीएम ने इस संवाद के जरिए लोगों से प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने का संदेश दिया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मथुरा की सांसद हेमा मालिनी भी मौजूद थीं। 

 

 

गत 27 मार्च को पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट रूल्स (2016) में संशोधन किए। अब इस नए कानून के तहत देश भर में प्लास्टिक उत्पादों का निर्माण करने वालों, इसके आपूर्तिकर्ता एवं विक्रेताओं को दो वर्षों में चरणबद्ध तरीके से प्लास्टिक से निर्मित उत्पादों को चलन से बाहर करने की जरूरत होगी। देश को 2022 तक प्लास्टिक से मुक्त करने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मुहिम चलाई है और लोगों को प्लास्टिक से होने वाले नुकसान के बारे में जागरूक भी कर रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्लास्टिक पर सात भाषाओं हिंदी, मराठी, गुजराती, तमिल, तेलुगू, मलयालम और कन्नड़ में एंथेम की शुरुआत की है।

प्रधानमंत्री मोदी ने ग्रेटर नोएडा में आयोजित यूएनसीसीडी सीओपी 14 सम्मेलन में एक बार प्रयोग में आने वाले प्लास्टिक पर भारत के प्रतिबंध के फैसले से दुनिया के नेताओं को अवगत कराया और उनसे भारत की इस मुहिम का अनुसरण करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा, 'मैं भूमि के नुकसान की तरफ आपका ध्यान खींचना चाहूंगा। यह प्लास्टिक का कचड़ा है। मेरी सरकार ने आने वाले वर्षों में एक बार इस्तेमाल में आने वाले प्लास्टिक पर रोक लगाने की घोषणा की है। एक बार इस्तेमाल में आने वाले प्लास्टिक को नमस्ते कहने का समय आ गया है।'

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर