Janta Curfew Kya hai: पीएम मोदी ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए देशवासियों को दिया 'मंत्र'

देश
आलोक राव
Updated Mar 19, 2020 | 21:32 IST

Janta Curfew Kya hai: पीएम ने जनता कर्फ्यू के बारे में कहा, ' जनता के लिए जनता द्वारा खुद पर लगाया गया कर्फ्यू। 22 मार्च की सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी देशवासियों को जनता कर्फ्यू का पालन करना है।

Janta Curfew Kya hai, What is Janata Curfew hindi meaning,
पीएम मोदी ने कोरोना वायरस पर राष्ट्र को किया संबोधित। 

मुख्य बातें

  • कोरोना वायर के संक्रमण से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से सहयोग मांग
  • प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से कहा कि वे संयम और संकल्प से इस बीमारी से लड़ सकते हैं
  • पीएम मोदी ने इस वायरस के बारे में लोगों से जागरूक होने की अपील की

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनो वायरस से सीमित रखने में देशवासियों से सहयोग करने की अपील की। पीएम ने कहा कि आगामी 22 मार्च को यानि रविवार को देश में जनता कर्फ्यू लागू होगा। पीएम ने कहा कि संकल्प एवं संयम से कोरोना वायरस को संक्रमण को सीमित किया जा सकता है। पीएम ने कहा कि उन्होंने देशवासियों से जब भी सहयोग मांगा तो देश के लोगों ने उन्हें निराश नहीं किया है। पीएम ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए उन्हें लोगों के कुछ सप्ताह चाहिए।

क्या है जनता कर्फ्यू 
पीएम ने जनता कर्फ्यू के बारे में कहा, 'यह जनता के लिए जनता द्वारा खुद पर लगाया गया कर्फ्यू है। 22 मार्च की सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी देशवासियों को जनता कर्फ्यू का पालन करना है। यह जनता द्वारा खुद पर लगाया गया एक कर्फ्यू होगा। इस दौरान कोई भी नागरिक अपने घरों से बाहर न निकले। न सड़क, न मोहल्ले में और न सोसायटी में जाए। आवश्यक सेवाएं से जुड़े लोग अपने काम पर जा सकते हैं। 22 मार्च को हमारा ये प्रयास संयम का एक मजबूत प्रतीक होगा। जनता कर्फ्यू के लिए हम कितने तैयार हैं यह परखने का समय है। मैं आपसे एक और सहयोग चाहता हूं पिछले दो महीने से लोग अस्पतालों, एयरपोर्ट और दफ्तरों में, बाजार में दिन रात काम में जुटे हैं। 

पीएम ने कहा, 'ये लोग हर किसी की सेवा करने का प्रयास कर रहे हैं। ये लोग राष्ट्र रक्षक के रूप में एक शक्ति बनकर खड़े हुए हैं। देश ऐसे लोगों का कृतज्ञ है। 22 मार्च के दिन हम ऐसे सभी लोगों को धन्यवाद अर्पित करें। यह तरीका देश के एक-एक व्यक्ति को जोड़ सकता है। इस दिन शाम पांच बजे हम अपने घर के दरवाजे पर खेड़े होकर पांच मिनट तक ऐसे लोगों का आभार व्यक्त करें। यह आभार ताली, थाली और घंटी बजाकर उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त की जा सकती है।

प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि यदि संभव हो तो प्रत्येक नागरिक कम से कम 10 लोगों को बुलाकर 'जनता कर्फ्यू' और कोरोना वायरस से संक्रमण को रोकने के उपाय के बारे में बताए। पीएम मोदी ने कहा कि यदि बहुत जरूरी हो तभी लोग अस्पताल में जाएं। पीएम ने कहा, 'यदि गैर-जरूरी सर्जरी करानी है तो उसे कम के कम एक महीने के लिए टाल दें।'

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर