तीन तलाक बिल पास होने पर पीएम मोदी बोले- सदियों से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को मिला न्याय

देश
Updated Jul 30, 2019 | 21:05 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

तीन तलाक बिल पास होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सदियों से तीन तलाक की कुप्रथा से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को न्याय मिला है।

Pm Modi
पीएम मोदी (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: PTI
मुख्य बातें
  • पीएम मोदी ने कहा कि तीन तलाक की कुप्रथा से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को न्याय मिला है
  • पीएम ने कहा कि पूरे देश के लिए आज एक ऐतिहासिक दिन है
  • पीएम ने इस ऐतिहासिक मौके पर सभी सांसदों का आभार व्यक्त किया

नई दिल्ली: मुस्लिम महिलाओं को एक बार में तीन तलाक देने की प्रथा पर रोक लगाने वाला विधेयक मंगलवार को राज्यसाभा से भी पास हो गया। इससे पहले यह विधेयक पिछले हफ्ते लोकसभा में पारित किया गया था। विधेयक में मुस्लिम समुदाय में तत्काल तलाक देने के मामले में पुरुषों के लिए सजा का प्रावधान रखा गया है। विधेयक में तीन तलाक का अपराध सिद्ध होने पर पति को तीन साल तक की जेल का प्रावधान किया गया है। तीन तलाक बिल पास होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक बहुत बड़ा कदम बताया है।

पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा, 'पूरे देश के लिए आज एक ऐतिहासिक दिन है। आज करोड़ों मुस्लिम माताओं-बहनों की जीत हुई है और उन्हें सम्मान से जीने का हक मिला है। सदियों से तीन तलाक की कुप्रथा से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को आज न्याय मिला है। इस ऐतिहासिक मौके पर मैं सभी सांसदों का आभार व्यक्त करता हूं।'

उन्होंने आगे लिखा, 'तीन तलाक बिल का पास होना महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक बहुत बड़ा कदम है। तुष्टिकरण के नाम पर देश की करोड़ों माताओं-बहनों को उनके अधिकार से वंचित रखने का पाप किया गया। मुझे इस बात का गर्व है कि मुस्लिम महिलाओं को उनका हक देने का गौरव हमारी सरकार को प्राप्त हुआ है।'

 

 

वहीं, गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में तीन तलाक विधेयक पास होने की प्रशंसा की और कहा कि मैं राज्य सभा द्वारा तीन तलाक की कुप्रथा पर मोदी सरकार द्वारा लाये गए ऐतिहासिक मुस्लिम वुमन प्रोटेक्शन ऑफ राइट्स ऑन मैरिज बिल के पारित होने पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी, क़ानून मंत्री जी, मंत्रिमंडल और लोक सभा एवं राज्य सभा के सभी सदस्यों का हार्दिक अभिनंदन करता हूं।

.उन्होंने कहा कि कि ट्रिपल तलाक बिल के पारित होने पर मैं देश भर की मुस्लिम बहनों को तीन तलाक के अभिशाप से छुटकारा मिलने पर बधाई देता हूं। इस ऐतिहासिक निर्णय से मोदी सरकार ने देश की मुस्लिम महिलाओं के लिए अभिशाप बने तीन तलाक से उन्हें मुक्ति देकर समाज में सम्मान से जीने का अधिकार दिया है।

गृह मंत्री ने आगे कहा कि मुस्लिम वुमन प्रोटेक्शन ऑफ राइट्स ऑन मैरिज बिल 2019 पारित होने से मुस्लिम महिलाओं के लिए असीम संभावनाओं के द्वार खुलेंगे जिससे वे ‘न्यू इंडिया' के निर्माण में प्रभावी भूमिका अदा कर सकेगी। मोदी सरकार महिला सशक्तिकरण और महिला अधिकारों की रक्षा के लिए समर्पित है, ट्रिपल तलाक पर बैन इसी दिशा में उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है। इस विधेयक को पास करा कर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने वादे को पूरा कर दिखाया है।

गौरतलब है कि राजयसभा में मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक, 2019 के पक्ष में 99 और इसके खिलाफ 84 मत पड़े। इससे पहले उच्च सदन ने विधेयक को प्रवर समिति में भेजने के विपक्षी सदस्यों द्वारा लाये गये प्रस्ताव को 84 के मुकाबले 100 मतों से खारिज कर दिया।

विधेयक पर लाए गए कांग्रेस के दिग्विजय सिंह के एक संशोधन को सदन ने 84 के मुकाबले 100 मतों से खारिज कर दिया। विधेयक पारित होने से पहले ही जदयू और अन्नाद्रमुक के सदस्यों ने इससे विरोध जताते हुए सदन से वॉकआउट किया।

 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर