Nirbhaya case: एट 3 पीएम आने वाला है बड़ा फैसला, क्या कम से कम दो गुनहगारों को होगी फांसी ?

दिल्ली हाईकोर्ट में सरकार की तरफ से यह दलील दी गई है कि कम से कम दो दोषियों को फांसी दी जा सकती है।

Nirbhaya case: एट 3 पीएम आने वाला है बड़ा फैसला, क्या कम से कम दो गुनहगारों को होगी फांसी ?
कानूनी दांवपेंच में निर्भया के दोषियों की फांसी में हो रही है देरी  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • निर्भया के सभी दोषियों को 1 फरवरी को सुबह 6 बजे दी जानी थी फांसी
  • 31 जनवरी को दोषी विनय शर्मा ने लगाई थी दया याचिका जिसे राष्ट्रपति ने खारिज कर दिया है
  • दोषी मुकेश सिंह के सभी कानूनी विकल्प पहले ही हो चुके हैं खत्म

नई दिल्ली। 16 दिसंबर 2012 की एक घटना ने देश को झकझोर कर रख दिया था। कुछ 6 लोगों की वहशियाना हरकत से एक परिवार तबाह हो गया था। सदन से लेकर सड़क तक उसकी गूंज उठी, कानून में बदलाव हुआ। लेकिन वो पीड़ित न्याय पाने के बाद भी अंतिम न्याय का इंतजार कर रही है।निर्भया गैंगरेप केस में चार दोषियों को फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है। लेकिन कानूनी दांवपेंच की मदद से वो फिलहाल बचते हुये नजर आ रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने कल एक दोषी विनय शर्मा की दया याचिका खारिज कर दी तो एक और दोषी पवन गुप्ता ने दया याचिका की अर्जी लगाई। इस बीच केंद्र सरकार ने फांसी टलने के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में अर्जी लगाई है जिस पर अहम फैसला आना है। सॉलीसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि दोषियों ने कानूनी प्रक्रिया को मजाक बना रखा है। उनकी दलील है कि चार में से दो दोषियों के सभी कानूनी विकल्प खत्म हो चुके हैं। लिहाजा उन्हें फांसी दिए जाने पर अदालत फैसला करे।

तुषार मेहता ने कहा कि दोषी कानूनी दांवपेंच की आड़ में फांसी की सजा लटका रहे हैं जिसकी वजह से देश के लोगों को धैर्य जवाब दे रहा है। सरकारी पक्ष की दलील के बाद जस्टिस सुरेश कांत ने तिहाड़ जेल के अधिकारियों को नोटिस भेजा है।उन्होंने कहा कि सभी चारों दोषियों ने कानूनी प्रक्रिया का मजाक बना रखा है। ऐसा लगता है कि कानून को वो ज्वॉय राइड समझ रहे हैं। पिछले शुक्रवार को सरकार ने पटियाला हाउस कोर्ट के उस फैसले के खिलाफ अर्जी दायर की थी जिसमें दोषियों की फांसी की सजा पर अनिश्चित काल के लिए रोक लगा दी थी। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर