कोरोना वायरस के मरीजों के लिए नई उम्मीद, कम लागत में वेंटिलेटर तैयार कर रहा है महाराष्ट्र का यह इंजीनियर,VIDEO

देश
रामानुज सिंह
Updated Apr 02, 2020 | 09:34 IST

देश भर में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है इसी बीच महाराष्ट्र से कोरोना के मरीजों के लिए एक नई उम्मीद भी सामने आई है।

New hope for Corona virus patients, Maharashtra engineer Nikhil Kurele of NOCCA Robotics Pvt Ltd is making ventilator in low cost
कोरोना मरीजों के लिए बन रहा है कम लागत में वेंटिलेटर  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • देश भर में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है
  • महाराष्ट्र में एक स्टार्ट-अप कंपनी ने कम लागत में वेंटिलेटर बनाने का दावा किया है जो कोरोना के मरीजों के लिए बेहद उपयोगी साबित होगा
  • वेंटिलेटर की कीमत 50,000 रुपए से कम होगी

नई दिल्ली: देश भर में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। इसकी संख्या बढ़कर 2000 के करीब पहुंच गया है। बुधवार को  437 नए मामले सामने आए। कोरोना वायरस के मामलों में इजाफे के लिहाज से एक दिन में अब तक की सबसे अधिक बढ़ोतरी दर्ज की गई है। जबकि 41 लोगों की जान चली गई है। अब तक सबसे ज्यादा मामले 335 महाराष्ट्र में सामने आए हैं। दिल्ली में कोराना वायरस के मामलों की संख्या 152 हो गई है। उत्तर प्रदेश में अब तक 103 मामले सामने आए हैं जबकि कर्नाटक में मामले 101 तक और तेलंगाना में 96 तक पहुंच गए हैं। इसी बीच कोरोना मरीजों के लिए एक आशा किरण सामने आई है। महाराष्ट्र में एक स्टार्ट-अप कंपनी ने कम लागत में वेंटिलेटर बना रहा है जो कोरोना मरीजों के लिए उपयोगी साबित होगा।

महाराष्ट्र: पुणे में एक स्टार्ट-अप एनओसीएए रोबोटिक्स प्राइवेट लिमिटेड के इंजीनियर कोरोनो वायरस महामारी से लड़ने के प्रयास में कम लागत वाले वेंटिलेटर विकसित कर रहा है। NOCCA रोबोटिक्स के संस्थापकों में से एक, निखिल कुरेल कहते हैं, "हमारा उद्देश्य पोर्टेबल वेंटिलेटर का निर्माण करना है। निखिल ने कहा कि वेंटिलेटर जो हम विकसित कर रहे हैं, उसकी कीमत 50,000 रुपए से कम होगी। यह एक पूर्ण वेंटिलेटर नहीं है। इसमें ऐसी विशेषताएं हैं जो विशेष रूप से COVID-19 रोगियों के लिए हैं।

विभिन्न राज्यों में 41 लोगों की मौत
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 के 1,649 रोगियों का इलाज चल रहा है, जबकि 143 लोग ठीक हो चुके हैं। बुधवार शाम साढ़े 7 बजे अपडेट किए गए आंकड़े के मुताबिक, मौत के तीन मामले नए हैं, जिनमें एक मौत पश्चिम बंगाल में और दो उत्तर प्रदेश में हुई हैं। बुधवार रात तक महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 9 मौतें हुई हैं, उसके बाद गुजरात में 6, कर्नाटक में 3 मध्य प्रदेश में 3, पंजाब में 3, तेलंगाना में 3, पश्चिम बंगाल में 3, दिल्ली में 2, जम्मू-कश्मीर में 2, उत्तर प्रदेश में 2 और केरल में 2 मौतें हुई हैं, जबकि तमिलनाडु, बिहार और हिमाचल प्रदेश से एक-एक मौत की खबर है। देश में कोरोना वायरस के सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र से हैं, जहां संक्रमितों की संख्या 302 पहुंच गई है, जबकि केरल में 241 और तमिलनाडु में 234 लोग संक्रमित हैं।

देश के राज्यों-केंद्रशासित प्रदेशों में मामले
राजस्थान में 93 मामले दर्ज किए गए हैं, आंध्र प्रदेश में 83, गुजरात में 82, जम्मू-कश्मीर में 62 जबकि मध्य प्रदेश में 66 मामले दर्ज किए गए हैं। पंजाब में कोविड-19 के 42 मामले सामने आए हैं, जबकि हरियाणा में 43 मामलों का पता चला है। पश्चिम बंगाल में मामलों की संख्या बढ़कर 37 हो गई है। बिहार में 23 जबकि चंडीगढ़ में 16 और लद्दाख में 13 मामले दर्ज किए गए हैं। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह से दस मामले सामने आए हैं। छत्तीसगढ़ में नौ मामले, जबकि उत्तराखंड में अब तक सात मामले सामने आए हैं। गोवा में कोरोना वायरस के पांच मामले सामने आए हैं। ओडिशा में चार मामले हैं जबकि पुडुचेरी और हिमाचल प्रदेश में तीन-तीन मामले दर्ज किए गए हैं। असम, झारखंड, मिजोरम और मणिपुर में एक-एक मामले सामने आने की खबर है।


 

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर