संसद में कृषि मंत्री का बयान- देश जानता है, विरोध करने वाले किसान नहीं हैं, वे कांग्रेस से जुड़े हैं

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि जो भी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, वो किसान नहीं है, बल्कि उनका संबंध कांग्रेस से है। यह बात देश जानता है।

protest
मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • कृषि विधेयकों को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन
  • कई जगह किसानों का विरोध प्रदर्शन
  • संसद में भी कांग्रेस समेत विपक्ष का हंगामा

नई दिल्ली: कृषि बिलों के खिलाफ कई जगह किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन संसद में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने उन्हें किसान न कहकर कांग्रेस से जुड़ा हुआ बताया है। तोमर ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, 'कांग्रेस के दांत खाने के और हैं, दिखाने के और। वे सदन में एक बात कहते हैं और बाहर दूसरी। विरोध करने वाले किसान नहीं हैं, वे कांग्रेस से संबंधित हैं, राष्ट्र यह जानता है। सुधार किसानों की मदद करेंगे और उनकी आय को बढ़ाएंगे। 

किसानों के मुद्दों को लेकर मंगलवार को कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने लोकसभा में हंगामा किया, जिसके कारण सदन की कार्यवाही आरंभ होने के करीब 15 मिनट बाद एक घंटे के लिए स्थगित कर दी गई। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने सरकार की ओर से रबी की फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में बढ़ोतरी को घोषणा किए जाने का उल्लेख करते हुए कहा कि यह नाम मात्र की बढ़ोतरी है। जाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में एमएसपी और खरीद के मुद्दे पर किसान उत्तेजित हैं और सड़कों पर हैं।

उन्होंने संसद से पारित दो कृषि विधेयकों का जिक्र करते हुए कहा कि हमारी पार्टी की मांग है कि एमएसपी को विधेयक में शामिल किया जाए। किसानों को आप पर भरोसा नहीं। 

कांग्रेस का प्रदर्शन

कृषि से जुड़े विधेयकों के विरोध में मंगलवार को भारतीय युवा कांग्रेस के कार्यकताओं ने प्रदर्शन कर नई दिल्ली में संसद भवन का घेराव किया। इस प्रदर्शन का नेतृत्व भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी कर रहे थे। वहीं प्रदर्शन कर रहे कार्यकतार्ओं को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। साथ ही प्रदर्शन के दौरान युवाओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला भी दहन किया। प्रदर्शन कर रहे भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार युवा और किसान विरोधी है। प्रधानमंत्री युवाओं और किसानों के गुनाहगार हैं। अपने उद्योगपति मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए वह देशवासियों की आवाज दबा रहे हैं। मैं एक बात कहना चाहता हूं कि किसान विरोधी काले कानून प्रधानमंत्री की सनक है और यदि इन जनविरोधी कानूनों को वापस नहीं लिया तो सड़कों पर जमकर लड़ाई होगी। आज संसद का घेराव हमने इस गूंगी बहरी सरकार को जगाने के लिए किया है।
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर