ग्लैंडर्स का शिकार हुई घोड़ी, हाई डोज इंजेक्शन देकर सुलाया मौत की नींद

देश
Updated Aug 01, 2019 | 08:16 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

छत्तीसगढ़ में ग्लैंडर्स वायरस ग्रस्ति एक घोड़ी को मौत की नींद सुला दिया गया। घोड़ी में ग्लैंडर्स की बीमारी पाई गई थी।

Mare
घोड़ी  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • एक घोड़ी को हाई डोज इंजेक्शन देकर मार दिया गया
  • घोड़ी खतरनाक बीमारी ग्लैंडर्स से पीड़ित थी
  • घोड़ी को मरने के बाद दफना दिया गया

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में पशुधन विभाग ने हाई डोज इंजेक्शन लगाकर एक घोड़ी को मौत की नींद सुला दिया। संक्रमण फैलने की डर से विभाग ने ऐसा किया है। घोड़ी संक्रामक ग्लैंडर्स बीमारी का शिकार हो गई थी। रानी नाम की घोड़ी को पशु चिकित्सकों ने सोडियम थियोप्लांटल इंजेक्शन दिया। घोड़ी के मरने के बाद उसे दफना दिया गया।

पशुधन विभाग के डॉ. तरुण रामटेके ने कहा, 'ऐसे जानवरों को मारना जरूरी है जो ग्लैंडर्स जैसी बीमारी से पीड़ित हैं। यह संक्रमण अन्य जानवरों और मनुष्यों के बीच बहुत तेज गति से फैलता है।' उन्होंने कहा, 'विभाग ने पूरी प्रक्रिया का पालन किया और जानवर को मौत की नींद सुला दिया। इसके बाद सुरक्षा उपायों को ध्यान में रखते हुए उसे दफनाया गया।'

छह घोड़ों के रक्त के नमूने को परीक्षण के लिए प्रयोगशाला में भेजा गया था, जिसमें एक का सकारात्मक पाया गया। राजनांदगांव पशुधन विभाग को रानी को उसके मालिक को मारने के फैसले के बारे में सूचित करने और संक्रमित जानवरों को आवासीय क्षेत्रों से दूर रखने के लिए कहा गया था। विभाग द्वारा घोड़ी को नवगाव स्थित ट्रेनिंग ग्राउंड में दफनाया गया। 

ग्लैंडर्स एक गंभीर जूनोटिक जीवाणु रोग है जो मुख्य रूप से घोड़े, खच्चरों और गधों को प्रभावित करता है। यह कई शताब्दियों तक दुनिया भर में समस्या थी, लेकिन 1900 के मध्य तक ज्यादा देशों से इस बीमारी का खात्मा कर दिया गया। अब यह असामान्य है और सीमित भौगोलिक क्षेत्रों से ही इसके मामले सामने आते हैं।
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर