जाकिर हुसैन पर हमले को ममता बनर्जी ने बताया साजिश, बोलीं- रेल मंत्री जिम्मेदारी से नहीं भाग सकते

देश
ललित राय
Updated Feb 18, 2021 | 13:06 IST

जाकिर हुसैन पर हमले को सीएम ममता बनर्जी ने साजिश करार दिया और कहा कि रेल मंत्री अपनी जिम्मेदारी से नहीं भाग सकते।

जाकिर हुसैन पर हमले को ममता बनर्जी ने बताया साजिश, बोलीं- रेल मंत्री जिम्मेदारी से नहीं भाग सकते
जाकिर हुसैन पर हमले को लेकर ममता बनर्जी ने साधा निशाना 

मुख्य बातें

  • मुर्शिदाबाद के निमिटटा रेलवे स्टेशन में मंत्री जाकिर हुसैन पर हुआ था हमला
  • ममता बनर्जी ने हमले को बताया साजिश, रेल मंत्री जिम्मेदारी से नहीं भाग सकते
  • बीजेपी ने हमले की निंदा की, जांच में जुटी रेलवे पुलिस

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का कहना है कि उनके मंत्री जाकिर हुसैन पर बुधवार को बम से किया गया हमला एक साजिश का हिस्सा था। जाकिर हुसैन पर हमला रेलवे परिसर में हुआ, इसलिए केन्द्रीय उपक्रम की जवाबदेही बनती है। कुछ लोग उन पर दबाव बना रहे हैं कि वह उनकी पार्टी में शामिल हों। बता दें कि मुर्शिदाबाद के निमिटटा रेलवे स्टेशन के अंदर मंत्री जाकिर हुसैन पर देसी बम से हमला किया गया था उस हमले में वो घायल हो गए थे और अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

साजिश वाले बम से हमला
मंत्री जाकिर हुसैन के समर्थकों का कहना है कि रेलवे के प्लेटफार्म पर पहले से ही बम रखे गए थे। जिस समय उनके ऊपर अटैक किया गया उस समय रेलवे पुलिस बल मौजूद था । लेकिन हमलावरों को पकड़ने की कोशिश नहीं की गई और सभी हमलावर फरार हो गए। ममता बनर्जी ने भी कहा कि जिस तरह से रेलवे स्टेशन के अंदर निशाना बनाया गया उससे पता चलता है कि स्टेशनों पर सुरक्षा व्यवस्था का क्या हाल है। 

मुर्शिदाबाद में क्या हुआ था
पुलिस के मुताबिक श्रम राज्य मंत्री हुसैन स्टेशन के 2 नंबर प्लेटफॉर्म पर रात करीब 10 बजे कोलकाता जाने वाली ट्रेन का इंतजार कर रहे थे, तभी उन पर हमला हुआ था।उन्होंने बताया कि मुर्शिदाबाद जिले के जंगीपुरा से विधायक और दो अन्य लोगों को जंगीपुरा उप संभागीय अस्पताल ले जाया गया।अस्पताल में एक अधिकारी ने बताया कि मंत्री को पैरों और पेट के निचले हिस्से में चोटें आई है।उन्होंने कहा, ‘‘हम उन्हें कोलकाता के किसी अस्पताल में भेजने से पहले स्थिर करने की कोशिश कर रहे हैं।

तृणमूल के नेता एवं वरिष्ठ मंत्री मलय घटक ने इस हमले के लिए ‘‘पार्टी के राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को’’ जिम्मेदार ठहराया है, जबकि तृणमूल से निष्कासित किए गए एवं मुर्शिदाबाद जिला परिषद के सभाधिपति मुशर्रफ हुसैन ने दावा किया कि यह पार्टी के बीच आंतरिक कलह का नतीजा है।पश्चिम बंगाल में इस साल अप्रैल-मई में चुनाव होने वाले हैं।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर