50-50 ही अब सवालों के घेरे में, फडणवीस के इनकार पर शिवसेना बोली- अब तो सच की परिभाषा बदलनी होगी

देश
Updated Oct 29, 2019 | 15:52 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Maharashtra government formation: सरकार गठन के मुद्दे पर बीजेपी और शिवसेना में जुबानी जंग तेज हो चुकी है। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि 50-50 फॉर्मूले का वादा नहीं था।

devndra phadnavees
महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कवायद 

नई दिल्ली। 161 सीटों के साथ महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना को बहुमत हासिल है। लेकिन 50-50 के मुद्दे पर सरकार के गठन पर पेंच फंसा हुआ है। बीजेपी को शिवसेना वादे की याद दिला रही है। लेकिन सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि इस तरह का कोई वाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की तरफ से नहीं हुआ था। इसे लेकर शिवसेना ने धमकी देते हुए कहा था कि उसके सामने सभी विकल्प खुले हुए हैं। 

 50-50 मुद्दा ही अब सवालों के घेरे में है। इस विषय पर सवाल इसलिए अहम है क्योंकि सीएम देवेंद्र फडणवीस का कहना है कि लोकसभा चुनाव के समय बातचीत हुई थी। लेकिन इस मुद्दे पर उनके सामने फैसला नहीं लिया गया था। अब इस विषय पर शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने निशाना साधा है। संजय राउत का कहना है कि उन्हें नहीं पता कि सीएम क्या कह रहे हैं। लेकिन यदि वो कहते हैं 50-50 पर बात नहीं हुई थी तो सच की परिभाषा बदलनी होगी। इस मुद्दे पर बातचीत मीडिया के सामने हुई थी।


ढ़ाई ढ़ाई साल तक सीएम पद के मुद्दे पर सीएम देवेंद्र फडणवीस ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के समय शिवसेना ने रोटेशन में सीएम पद पर बातचीत हुई थी। लेकिन उनके सामने कोई फैसला नहीं हुआ था। अगर इस विषय पर अमित शाह जी और उद्घव जी के बीच कोई बात हुई हो तो उन लोगों को ही पता होगा और वे लोग फैसला ले सकते हैं। 


शिवसेना के इस बयान के बाद देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि बीजेपी की अगुवाई में ही सरकार चलेगी और स्थिर सरकार लोगों की उम्मीदों पर खरी उतरेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी को अब तक 10 निर्दलीय विधायकों ने समर्थन दिया है, इसके साथ ही पांच और निर्दलीय विधायकों के समर्थन की उम्मीद है। 

 

शिवसेना और बीजेपी में रार के बीच बीजेपी के सांसद संजय काकड़े ने कहा कि शिवसेना के 45 नए विधायक सीएम देवेंद्र फडणवीस के संपर्क में हैं और वो बीजेपी के साथ गठबंधन की सरकार चाहते हैं। उन्हें उम्मीद है कि इनमें से कुछ विधायक उद्धव ठाकरे को समझाने में कामयाब होंगे बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाने के लिए आगे बढ़ना चाहिए। उन्हें लगता है कि इसके अलावा और कोई दूसरा विकल्प नहीं है।

 

 

बता दें कि विधानसभा चुनाव के नतीजों में 2014 की तुलना में बीजेपी और शिवसेना दोनों दलों की सीट संख्या में कमी आई है। बीजेपी के खाते में 105 सीटें आईं तो शिवसेना के खाते में 56 सीटें गईं। बीजेपी के प्रदर्शन पर देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि इस दफा उनकी पार्टी सिर्फ 150 सीटों पर चुनाव लड़ी थी और सफलता का अनुपात करीब 70 फीसद था। मतगणना के बाद फडणवीस ने ये भी कहा था कि एक बार फिर राज्य में गठबंधन की सरकार बनेगी। 

 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर