Lockdown 3.0 : सरकार ने सरकार पर साधा निशाना, उत्तराखंड का आरोप-अपने लोगों को वापस बुलाने से कतरा रही हैं ममता

देश
ललित राय
Updated May 12, 2020 | 06:38 IST

Lockdown 3.0: लॉकडाउन 3 में गृहमंत्रालय की गाइडलाइन के मुताबिक प्रवासी मजदूरों, छात्रों और पर्यटक अपने अपने राज्यों में जा सकते हैं। लेकिन क्या ममता बनर्जी सरकार अपने लोगों को वापस बुलाना नहीं चाहती है।

Lockdown 3.0 : सरकार ने सरकार पर साधा निशाना, उत्तराखंड का आरोप-अपने लोगों को वापस बुलाने से कतरा रही हैं ममता
हरिद्वार में बंगाल के करीब 700 पर्यटक 
मुख्य बातें
  • उत्तराखंड में बंगाल के करीब 700 पर्यटक फंसे हुए हैं।
  • पर्यटकों की किसी तरह की दिक्कत नहीं लेकिन वो बंगाल जाना चाहते हैं- उत्तराखंड सरकार
  • पश्चिम बंगाल सरकार से की गई है अपील लेकिन अब तक किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं- मदन कौशिक, मंत्री

नई दिल्ली। क्या 17 मई के बाद लॉकडाउन 4.0 की शुरुआत होगी या अब लोगों को इससे राहत मिलेगी, इस सवाल का जवाब भविष्य के गर्भ में है। सोमवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम नरेंद्र मोदी की बैठक हुई जिसमें कई मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन बढ़ाने पर जोर दिया। इस बीच पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार को संघवाद की भावना का सम्मान करना चाहिए। लेकिन इन सबके बीच उत्तराखंड सरकार ने बंगाल सरकार पर गंभीर आरोप लगाया है।

बंगाल लौटना चाहते हैं पर्यटक
कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए जब लॉकडाउनका ऐलान किया गया तो बंगाल के करीब 700 पर्यटक हरिद्वार में फंस गए। पर्यटकों का कहना है कि हरिद्वार में उन्हें किसी तरह की दिक्कत नहीं है। लेकिन वो लोग अपने राज्य वापस लौटना चाहते हैं। वो लोग ममता दी से मांग कर रहे हैं कि लौटने का कुछ इंतजाम वो जरूर करें।

पर्यटकों की घर वापसी पर सियासत
उत्तराखंड के मंत्री मदन कौशिक कहते हैं उनकी सरकार पश्चिम बंगाल सरकार के संपर्क में है।लेकिन किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं आई है। हरिद्वार में फंसे पर्यटक वापस जाना चाहते हैं। सरकार की तरफ से फंसे लोगों के खाने पीने और रहने का इंतजाम किया गया है। लेकिन वो लोग वापस लौटना चाहते हैं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर