पाकिस्तान की नापाक चाल, आईएसआई ने पीओके में भेजे 100 पश्तून लड़ाके

देश
Updated Sep 18, 2019 | 18:22 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

ISI sends 100 Pashtuns in PoK : पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। उसकी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) ने करीब 100 पश्तून लड़ाकों को पीओके में भेजा है।

Locals in POK claim that 100s of tribal Saboteurs have been transported by ISI
कश्मीर में बड़ा आतंकवादी हमला कराना चाहता है पाकिस्तान। (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • पीओके के स्थानीय नागरिकों का दावा आईएसआई ने 100 पश्तून लड़ाकों को भेजा
  • पीओके का विकास न होने और आतंकियों के बढ़ते प्रशिक्षण केंद्र से परेशान हैं लोग
  • यूएनजीए की बैठक से पहले एलओसी पर तनाव बढ़ाना चाहता है पाकिस्तान

नई दिल्ली : पाकिस्तान अपनी नापाक कोशिशों से बाज नहीं आ रहा है। वह कश्मीर में हिंसा एवं आतंकवादी गतिविधियां बढ़ाने के लिए जीन-जान से जुटा है। यह अलग बात है कि भारतीय सुरक्षाबल उसके नापाक मंसूबों पर पानी फेरते आए हैं। पाकिस्तान की इन हरकतों के बीच चौंकाने वाली रिपोर्ट आई है। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के स्थानीय लोगों ने दावा किया है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) कश्मीर में मौजूद आतंकवादियों एवं जेहादियों को मदद पहुंचाने के लिए सक्रिय हो गई है। 

दावे के मुताबिक आईएसआई ने करीब 100 कबायली पश्तून लड़ाकों को पीओके में पहुंचाया है। आईएसआई का इरादा इन लड़ाकों को घाटी में घुसपैठ कराकर उन आतंकवादियों एवं जेहादियों की मदद करना है जो पहले से ही वहां हमले की फिराक में हैं। 

हाल के दिनों में पीओके में पाकिस्तान की सरकार एवं उसकी फौज के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन तेज हुए हैं। लोग अपने क्षेत्र का विकास न होने और पीओके में आतंकियों का प्रशिक्षण स्थल बनने से परेशान हैं। इससे आहत पीओके के लोग पाकिस्तान से आजादी की मांग कर रहे हैं लेकिन फौज उनकी आवाजों को दबाती आ रही है। पाकिस्तानी सेना की ज्यादती के कई वीडियो सामने आए हैं।

यूएनजीए बैठक से पहले पाकिस्तान नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर तनाव बढ़ाना चाहता है। वह इन भाड़े के आतंकियों के जरिए एलओसी पर भारतीय चौकियों को निशाना बनाने की फिराक में है। कश्मीर में आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए उसने अपनी बॉर्डर एक्शन टीम (बीएटी) और स्पेशल सर्विस ग्रुप (एसएसजी) के जवानों को एलओसी पर पहले ही सक्रिय कर दिया है और अब उसने पश्तून लड़ाकों को वहां भेजा है। 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...