वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर कुमार विश्वास का तंज, 'मैं ऐसे परिवार से हूं जहां पेट्रोल नहीं पिया जाता'

देश
Updated Dec 05, 2019 | 16:13 IST

कवि कुमार विश्वास ने अपने व्यंग के लिए मशहूर हैं। वे अक्सर ट्वीट कर नेताओं पर तंज कसते रहते हैं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर कुमार विश्वास का तंज, 'मैं ऐसे परिवार से हूं जहां पेट्रोल नहीं पिया जाता'
बढ़ते प्याज के भाव पर निर्मला सीतारमण के बयान पर कुमार विश्वास का तंज  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • देश भर में प्याज की कीमत 100 रुपए प्रति किलो से अधिक है, कहीं -कहीं तो 180 रुपए किलो बिक रहा है
  • प्याज की कीमतों को लेकर विपक्षी दलों ने संसद में सरकार को घेरा, इस पर निर्मला सीतारमण ने कहा कि मैं ऐसे परिवार से आती हूं, जिसका प्याज से कोई लेना-देना नहीं है
  • इसके बाद सोशल मीडिया पर वित्त मंत्री का विरोध होना शुरू हो गया, कवि कुमार विश्वास ने भी अपने स्टाइल में तंज कसा

नई दिल्ली : अक्सर अपने ट्वीट से राजनेताओं को घेरने वाले कवि कुमार विश्वास ने मोदी सरकार की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर ट्वीट कर तंज कसा। कुमार ने अपने ट्विटर अकाउंट पर प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर विपक्ष के हंगामे पर निर्मला सीतारमण के बयान को निशाना बनाया और लिखा, 'मैं ऐसे परिवार से हूं जहां पेट्रोल नहीं पिया जाता इसलिए पेट्रोल के दाम बढ़ने से मुझको कोई परेशानी नहीं है निर्मल (अ) ज्ञान।' गौर हो कि उन्होंने बुधवार को लोकसभा में  कहा था कि मैं प्याज-लहसुन ज्यादा नहीं खाती, मैं ऐसे परिवार से आती हूं, जिसका प्याज से कोई लेना-देना नहीं है। उनके इस बयान से सोशल मीडिया यूजर ने जमकर विरोध किया।

मंत्री सीतारमण ने लोकसभा में 2019-20 के लिए अनुदानों की अनुपूरक मांगों के पहले बैच पर बहस का जवाब दे रही थीं। उन्होंने कहा कि प्याज की कीमत में वृद्धि खेती और उत्पादन के क्षेत्र में कमी की वजह से हुई है। मंत्री ने अर्थव्यवस्था में डर के माहौल के बारे में विपक्ष के आरोपों को खारिज कर दिया और कहा कि सरकार ने आयात समेत प्याज की कीमतों में वृद्धि को रोकने के लिए कई कदम उठाए हैं।

उधर लोकसभा में गुरुवार को भी देश में प्याज की बढ़ती कीमतों का मुद्दा उठा। शून्यकाल में इस मुद्दे को उठाते हुए टीएमसी सांसद सुदीप बंदोपाध्याय ने केंद्र सरकार पर प्याज की कीमतों पर लगाम लगाने में विफल रहने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि नवंबर माह में प्याज की कीमतों में 61.94% की वृद्धि हुई है। उनका कहना है कि प्याज की बढ़ती कीमतों से आम लोगों के ऊपर काफी बोझ बढ़ गया है। केंद्र सरकार इस पर नियंत्रण करने में विफल रही। बंदोपाध्याय ने कहा कि केंद्र सरकारों का कालाबाजारी पर लगाम लगाने के लिए राज्यों को परामर्श जारी करना चाहिए।
 

 
 

 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...