Vidisha Maitra: जानें कौन हैं IFS अधिकारी विदिशा मैत्रा, इमरान खान को दिया है करारा जवाब

देश
Updated Sep 28, 2019 | 12:56 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Vidisha Maitra: संयुक्त राष्ट्र में नई राजदूत विदिशा मैत्रा ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के भाषण का जवाब दिया। मैत्रा ने पाकिस्तान और इमरान खान को पोल खोल कर रख दी।

Vidisha Maitra
विदिशा मैत्रा 

मुख्य बातें

  • विदिशा मैत्रा ने 'राइट टू रिप्लाई' का उपयोग कर इमरान खान को जवाब दिया
  • मैत्रा संयुक्त राष्ट्र में भारत की नई राजदूत हैं, उन्हीं को जवाब देने का मौका मिला
  • मैत्रा को 2009 में सर्वश्रेष्ठ अधिकारी ट्रेनी का पदक जीता

नई दिल्ली: संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में अपने संबोधन में पाकिस्तान के राष्ट्रपति इमरान खान ने कश्मीर को लेकर भारत के खिलाफ खूब जहर उगला। इसके बाद भारत ने 'राइट टू रिप्लाई' के अधिकार का उपयोग कर इमरान के आरोपों का जवाब दिया। भारत की तरफ से यूएन में भारत की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने इमरान के आरोपों का जवाब दिया और पाकिस्तान की पोल खोल कर रख दी। उन्होंने एक-एक आरोप का मुंहतोड़ जवाब दिया और अपने सवालों से पाकिस्तान को कटघरे में खड़ा कर दिया।

इमरान को जवाब देने वाली विदिशा मैत्रा ने 2008 में भारतीय विदेश सेवा (IFS) की परीक्षा पास की। 2009 में मैत्रा ने सर्वश्रेष्ठ अधिकारी ट्रेनी के लिए विदेश मंत्रालय  का पदक जीता। संयुक्त राष्ट्र में वो भारत की सबसे नई डिप्लोमेट हैं। वह संयुक्त राष्ट्र (UN) में सुरक्षा परिषद सुधार, सुरक्षा परिषद (पड़ोस/क्षेत्रीय मुद्दे) और चौथी समिति के प्रस्तावों सहित विशेष राजनीतिक मिशन देखती हैं। 

संयुक्त राष्ट्र में भारत की नई राजदूत मैत्रा ने इमरान को जवाब देते हुए कहा, 'कूटनीति में शब्द मायने रखते हैं। तबाही, खून-खराबा, नस्लीय श्रेष्ठता, बंदूक उठाओ और अंत तक लड़ाई करो जैसे वाक्यांशों का इस्तेमाल मध्यकालीन मानसिकता को दर्शाता है न कि 21वीं सदी की दूरदृष्टि को।'

उन्होंने कहा, 'हम आपसे अनुरोध करेंगे कि आप इतिहास की अपनी समझ को ताजा करें। साल 1971 में पाकिस्तान द्वारा अपने ही लोगों के खिलाफ किए क्रूर नरसंहार और उसमें लेफ्टिनेंट जनरल ए ए के निआजी की भूमिका को न भूलें।'

मैत्रा ने इस दौरान इमरान खान से कुछ सवाल भी किए। उन्होंने पूछा, 'क्या खान न्यूयॉर्क शहर से इस बात से मना कर पाएंगे कि वह ओसामा बिन लादेन के खुलेआम समर्थक थे? क्या पाकिस्तान इस बात की पुष्टि कर सकता है कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित 130 आतंकवादी और 25 आतंकवादी संगठन उसके यहां नहीं है? क्या पाकिस्तान यह मानेगा कि वह दुनिया में एकमात्र देश है जो संयुक्त राष्ट्र की अलकायदा और इस्लामिक स्टेट प्रतिबंध सूची में शामिल लोगों को पेंशन देता है। क्या पाकिस्तान इससे इनकार करेगा कि वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (FATF) ने देश को 27 प्रमुख मानकों में से 20 से अधिक के उल्लंघन के लिए नोटिस दिया?' 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर