नहीं रहे 'कैफे कॉफी डे' के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ, नेत्रावती नदी से शव बरामद

देश
Updated Jul 31, 2019 | 09:24 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

करीब 36 घंटे की तलाश के बाद सीसीडी मालिक वी जी सिद्धार्थ के शव को बरामद किया गया है। नेत्रावती नदी में छलांग लगाकर उन्होंने खुदकुशी कर ली थी।

CCD founder VG Siddhartha search operation
CCD founder VG Siddhartha body found in netrawati river  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • 'कैफे कॉफी डे' के मालिक और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता एसएम कृष्णा के दामाद वीजी सिद्धार्थ सोमवार से लापता हैं
  • एक मछुआरे ने दावा किया कि उसने किसी को पुल से छलांग लगाते देखा
  • एनडीआरएफ, कोस्ट गार्ड, होमगार्ड, अग्निशमन विभाग और तटीय पुलिस की टीमों उन्हें दिन रात नदी में तलाश कर रही है

बेंगलुरू: भारत में 'कैफे कॉफी डे' के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ का शव बरामद हो चुका है। कर्नाटक के तटीय शहर मंगलुरु जाने के दौरान रास्ते से सोमवार से लापता थे। सिद्धार्थ को आखिरी बार नेत्रावती नदी के पुल पर देखा गया था। एक मछुआरे ने दावा किया कि उसने किसी को पुल से छलांग लगाते देखा। उसके बाद से सिद्धार्थ का पता लगाने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), कोस्ट गार्ड, होमगार्ड, अग्निशमन विभाग औक तटीय पुलिस की टीमों ने उस पुल के नीचे नेत्रावती नदी के पानी में तलाश कर रही है। सर्च अभियान में 200 से ज्यादा पुलिसकर्मी जुटे हैं और नदी में उनकी तलाश के लिए करीब 25 नावों को भी लगाया गया है।

मंगलौर पुलिस कमिश्नर संदीप पाटिल ने कहा कि रात भर नदी में निगरानी रखी जाएगी। स्पेशल सर्च लाइट का इस्तेमाल किया जाएगा और रात में गतिविधियों की जांच के लिए नदी के दोनों किनारे पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। भारतीय कोस्ट गार्ड का कहना है कि नदी का यह स्थान समुद्र से अधिक दूर नहीं है। अगर वह सचमुच में कूदा और डूब गया है तो हो सकता है उसकी बॉडी समुद्र की ओर बह गया होगा।

सर्च अभियान में जुटी भारतीय कोस्ट गार्ड की टीम आज (30 जुलाई) रात की सर्च प्लानिंग इस प्रकार तैयार की है। आईसीजीएस सावित्रीबाई फुले, फास्ट गश्ती पोत ओल्ड मैंगलोर पोर्ट से रात में गश्त करेगा और बंदरगाह के मुहाने के करीब तेज चौकसी बनाए रखेगी। 75 एसीवी सर्च टीम स्टैंडबाय पर रखी गई है। होवरक्राफ्ट को दिन की रोशनी में सर्च मिशन में लगाया जाएगा। आईसीजी डाइविंग टीमें किसी तरह के सर्च के लिए DHQ-3 पर स्टैंडबाय में रहेंगी। आईसीजीएस कस्तूरबा गांधी को भी ओल्ड मैंगलोर पोर्ट पर तैनात करने के लिए स्टैंडबाय में रखा गया है।

पुलिस के अनुसार कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता एसएम कृष्णा के दामाद सिद्धार्थ को दक्षिण कन्नड़ जिले के कोटेपुरा इलाके में नेत्रावती नदी के पुल के पास सोमवार रात आखिरी बार देखा गया था। सिद्धार्थ सोमवार की दोपहर बेंगलुरु से हासन जिले के सक्लेशपुर के लिए निकले थे लेकिन अचानक उन्होंने अपने कार ड्राइवर से मंगलुरु चलने को कहा। पुलिस ने बताया कि नेत्रावती नदी पर बने पुल के पास वह कार से उतर गए और उन्होंने ड्राइवर से कहा कि वह टहलने जा रहे हैं। पुलिस के मुताबिक सिद्धार्थ ड्राइवर से उनके आने तक रुकने को कहा। जब वह दो घंटे तक वापस नहीं आए तो ड्राइवर ने पुलिस से संपर्क कर उनके लापता होने की शिकायत दर्ज कराई। 
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर