ओवैसी की सभा में 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगाने वाली महिला के हैं नक्सलियों से संबंध! होगी जांच

देश
श्वेता कुमारी
Updated Feb 21, 2020 | 17:13 IST

सीएए और एनआरसी के खिलाफ असदुद्दीन ओवैसी की सभा में 'पाकिस्‍तान जिंदाबाद' के नारे लगाने वाली युवती के तार नक्‍सलियों से जुड़े होने की आशंका जताई जा रहा है। सरकार ने इसकी जांच कराने की बात कही है। 

Karnataka government to probe naxals link of woman who raises Pakistan zindabad slogan at Asaduddin Owaisi's rally
ओवैसी की सभा में 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगाने वाली महिला के जुड़े हैं नक्सलियों से संबंध! होगी जांच  |  तस्वीर साभार: ANI

बेंगलुरु : अखिल भारतीय मजलिस-ए-इत्‍तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की सभा में 'पाकिस्‍तान जिंदाबाद' के नारे लगाने वाली युवती के खिलाफ लोगों की नाराजगी बढ़ती जा रही है। कई लोगों ने सोशल मीडिया पर उसे लेकर अपने गुस्‍से का इजहार किया है तो अब ऐसी आशंका भी जताई जा रही है कि उसके तार नक्‍सलियों से जुड़े हो सकते हैं। इस आशंका की एक बड़ी वजह यह बताई जा रही है कि वह कर्नाटक के जिस इलाके से ताल्‍लुक रखती है, उसे नक्‍सलियों का गढ़ माना जाता है।

पुलिस ने बताया नया नाम
नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी के खिलाफ आयोजित ओवैसी की सभा में विवादास्‍पद नारे लगाने वाली लड़की का नाम शुरू में अमूल्‍या बताया गया था, लेकिन बाद में कर्नाटक पुलिस ने उसका नाम अरुद्रा घोषित किया। उसकी उम्र 20 की बताई जा रही है और वह अभी बेंगलुरु के एक कॉलेज से पत्रकारिता की पढ़ाई कर रही है। उसका जन्‍म कर्नाटक के मैसूर में 31 जुलाई, 2000 में हुआ बताया जा रहा है। उसका परिवार फिलहाल कर्नाटक के चिकमंगलूर में रहता है, जहां उसके विवादास्‍पद नारे लगाए जाने के बाद गुरुवार रात कुछ लोगों ने हमला भी किया और खिड़कियों के शीशे तोड़ दिए। पुलिस उनकी तलाश में जुटी है।

जांच कराएगी कर्नाटक सरकार
इस बीच कर्नाटक के गृहमंत्री बासवराज बोम्मई ने कहा कि अरुद्रा जहां से आती हैं, वहां काफी समय से नक्‍सली गतिव‍िधियां सक्रिय रही हैं। उसने सोशल मीडिया पर भी कई कमेंट्स किए हैं और कुछ पोस्‍ट डाले हैं। इन सबको ध्‍यान में रखकर इसकी जांच कराई जाएगी कि कहीं उसके तार नक्‍सलियों से तो नहीं जुड़े रहे हैं। वहीं, कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बीएस येदियुरप्‍पा ने भी कहा कि उस लड़की को जमानत नहीं दी जानी चाहिए। उन्‍होंने इस संबंध में उसके पिता के एक बयान का भी जिक्र किया, जिन्‍होंने कहा कि वह उसे नहीं बचाएंगे। इस बयान का हवाला देते हुए येदियुरप्‍पा ने कहा कि इससे जाहिर होता है कि उसके तार नक्‍सलियों से जुड़े रहे हैं। उसे उचित सजा दी जानी चाहिए।

अरुद्रा के पिता ने क्‍या कहा
ओवैसी की सभा में जिस लड़की के 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगाए जाने से हंगामा हुआ है, उसके पिता की भी पूरे प्रकरण पर प्रतिक्रिया आई है। अपनी बेटी की आलोचना करते हुए उन्‍होंने कहा कि वह इसे कभी बर्दाश्‍त नहीं करेंगे। उन्‍होंने कहा, 'मेरी बेटी ने जो कुछ भी कहा या किया, वह बिल्‍कुल गलत है। मैं इसे कतई बर्दाश्‍त नहीं करूंगा और न ही उसे बचाने के प्रयास करूंगा।' अरुद्रा को पुलिस ने देश-विरोधी नारेबाजी के आरोप में गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ 'राजद्रोह' का मुकसदमा दर्ज किया गया है और फिलहाल न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर