दिल्ली हिंसा पर कपिल मिश्रा का ताजा ट्वीट, 'मैंने कुछ भी गलत नहीं किया, मुझे आतंकवादी कहा जा रहा है'

देश
रामानुज सिंह
Updated Feb 26, 2020 | 12:06 IST

Delhi violence : नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर दिल्ली में भड़की हिंसा पर कपिल मिश्रा ने कहा कि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया। 

Kapil Mishra's tweet on Delhi violence
दिल्ली हिंसा पर कपिल मिश्रा की प्रतिक्रिया  |  तस्वीर साभार: ANI

नई दिल्ली: बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने मंगलवार शाम जोर देकर कहा कि उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का समर्थन करके कुछ भी गलत नहीं किया है। उन्होंने बुधवार को ट्वीट किया कि जिन्होंने कभी बुरहान वानी और अफजल गुरु तक को आतंकवादी नहीं माना वो कपिल मिश्रा को आतंकवादी बता रहे हैं। जो याकूब मेनन, उमर खालिद और शरजील इस्लाम को रिहा करवाने कोर्ट जाते हैं वो कपिल मिश्रा को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं। जय श्री राम।

इससे पहले ट्वीट किया मुख्यमंत्री जी @ArvindKejriwal शहीद कांस्टेबल रतनलाल जी के परिवार को तुरंत एक करोड़ रुपए का मुआवजा दीजिए? इतनी देरी क्यों? चुप्पी क्यों? गौर हो कि दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोधियों और समर्थकों के बीच हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल शहीद हो गए।

'मुझे जान से मारने की धमकी'
इससे पहले ट्विटर पर पोस्ट किए गए ट्वीट्स की एक सीरीज में कपिल मिश्रा ने कहा कि मुझे गाली दी जा रही है और मुझे जान से मारने की धमकी जारी की गई है। उसने यह भी दावा किया कि उसने सीएए का समर्थन करके अपराध नहीं किया है। मिश्रा ने कहा कि मुझे मारने के लिए कई लोगों के फोन आए हैं। राजनेताओं और पत्रकारों समेत कई लोग मुझे गाली दे रहे हैं। लेकिन मुझे डर नहीं है क्योंकि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है।

मौजपुर में सीएए समर्थकों की रैली की थी 
पिछले तीन दिनों में पूर्वोत्तर दिल्ली के कुछ हिस्सों में भयावह हिंसा भड़काने वाली टिप्पणियों को लेकर कपिल मिश्रा की विपक्षी नेताओं द्वारा आलोचना की गई है। पूर्वोत्तर दिल्ली के कुछ हिस्सों में रविवार को हिंसा भड़कने से पहले उन्होंने मौजपुर में सीएए समर्थकों की रैली का नेतृत्व किया। रैली जाफराबाद के पास आयोजित की गई, जहां शाहीन बाग विरोध प्रदर्शनों से प्रेरित 1000 से अधिक महिलाएं सीएए के खिलाफ शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन कर रही थीं।

दिल्ली पुलिस को दिया था अल्टीमेटम
मिश्रा ने दिल्ली पुलिस को तीन दिनों का अल्टीमेटम देते हुए कहा था कि जाफराबाद और चांद बाग की सड़कें खाली करवाइए, इसके बाद हमें मत समझाइएगा, हम आपकी भी नहीं सुनेंगे, सिर्फ तीन दिन। 

गौतम गंभीर ने की कड़ी कार्रवाई की मांग
उनके बयान पर बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने मंगलवार को कहा कि जिसने भी हिंसा को भड़काने का काम किया उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। कपिल मिश्रा के भाषण पर गंभीर ने कहा कि कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह व्यक्ति कौन है, चाहे वह कपिल मिश्रा हो या कोई और या किसी भी पार्टी से संबंधित हो, अगर उसने कोई भड़काऊ भाषण दिया है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

अब तक 20 लोगों की मौत, 150 से ज्यादा घायल
उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा में मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर बुधवार को 20 पर पहुंच गई है। जीटीबी अस्पताल के अधिकारियों ने यह जानकारी दी।मंगलवार को मरने वाले लोगों की संख्या 13 बताई गई थी। घायलों की संख्या 150 से ज्यादा बताई जा रही है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर