VIDEO: दिव्यांगजनों के बारे में कमलनाथ के मंत्री कि बिगड़े बोल, कहा- अंधे, लंगड़े और लूले लोग..

देश
किशोर जोशी
Updated Feb 22, 2020 | 09:03 IST

मध्य प्रदेश के कैबिनेट मंत्री हुकुमसिंह कराड़ा द्वारा किसान कर्जमाफी सम्मेलन के दौरान दिव्यांगजों के खिलाफ दिए गए आपत्तिजनक बयान को लेकर बवाल मचा हुआ है।

Kamalnath Minister Hukum Singh Karada calls Divyang andhe, langde, lule at event in Madhya Pradesh
दिव्यांगजनों के बारे में ये क्या बोल गए कमलनाथ के मंत्री?  |  तस्वीर साभार: Facebook

मुख्य बातें

  • कमलनाथ सरकार में जल संधाधन मंत्री है हुकुमसिंह कराड़ा, दिव्यांगों को लेकर दिया विवादित बयान
  • अंधे, लंगड़े और लूलों के लिए हमने 300 रुपए से लेकर पेंशन एक हजार रुपए कर दी हैं- कराड़ा
  • दिव्यांगजों ने की कराड़ा के बयान की आलोचना, बवाल बढ़ने पर मांगी माफी

मंदसौर: मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार में जल संसाधन मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा ने ऐसा विवादित बयान दिया है जिससे बवाल मच गया है। सीतामऊ में आयोजित किसान कर्ज माफी सम्मेलन के दौरान लोगों को संबोधित करते हुए कराड़ा ने कहा, ' क्‍या अंधे, लंगड़े, लूले लोगों को पेंशन तीन सौ रुपये से एक हजार रुपये करना गलत काम है? किसानों के लिए रुपये सौ-सौ यूनिट करना गलत काम है?' इस बयान के बाद हुकुम सिंह के खिलाफ कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन होने लगे हैं।

उठी थी माफी की मांग

शुक्रवार को ही दिव्यांगजनों के सगंठन ने हुकुम सिंह के खिलाफ नारेबाजी की और कहा कि अगर उन्होंने तीन दिन के भीतर माफी नहीं मांगी तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी।  वहीं मामला तूल पकड़ता देख मंत्री हुकुम सिंह ने बयान जारी कर माफी मांग ली है।

 

हुकुम सिंह ने मांगी माफी

अपने बयान में हुकुम सिंह ने कहा, 'मेरे द्वारा निशक्तजनों के प्रति बोलचाल और प्रचलन की भाषा में जो शब्द बोले गए उसका मुझे दुख है। मेरा उद्देश्य किसी की भावना को ठेस पहुंचाना नहीं था। मैं दिव्यांगों के प्रति पूरा सम्मान करता हूं। मेरा आशय इनके लिए 300 रुपए से बढ़ाकर 1000 रुपए पेंशन कर देना हमारी सरकार की 'सेवा भावना' को दर्शाने से था।' मंत्री द्वारा बयान जारी होने के बाद दिव्यांग संगठन ने अपना विरोध प्रदर्शन बंद कर दिया है।

बीजेपी ने की किराड़ा की आलोचना

भाजपा ने भी मंत्री हुकुम सिंह किराड़ा के इस बयान की आलोचना की है। बीजेपी विधायक यशपाल सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए कहा, 'प्रभारी मंत्री श्री हुकुम सिंह कराड़ा द्वारा गत दिवस सीतामऊ में आयोजित कार्यक्रम में दिव्यांगों के लिए दिए गए अप शब्दों को लेकर मंदसौर के गांधी चौराहा पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने दशपुर दिव्यांग संगठन के पदाधिकारियों ने नारेबाजी की एवं धरना दिया।'

सोशल मीडिया पर भड़के लोग

कराड़ा के इस बयान को लेकर सोशल मीडिया में लोग उनकी जमकर आलोचना कर रहे हैं। कई लोग तो उन्हें पीएम मोदी से सीख लेने की सलाह दे रहे हैं जिन्होंने विकलांग की जगह दिव्यांग शब्द इजाद किया था।   एक ट्वीटर यूजर ने लिखा, 'एक तरफ मोदी जी है जो दिव्यांग भाई बहनों का बहुत सम्मान करते है, दूसरी तरफ कांग्रेसी उनको अंधे, लँगड़े, लूले कहते है शर्मनाक।'

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर