Rafale deal : जेपी नड्डा बोले-राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि केस को आगे नहीं ले जाएंगे

देश
आलोक राव
Updated Nov 14, 2019 | 14:06 IST

Supreme Court on Rahul Gandhi : सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी से कहा है कि वह कोर्ट के बयान इस्तेमाल करते समय बेहद सावधानी बरतें। कोर्ट ने मानहानि के इस मामले को खत्म कर दिया है।

JP Nadda seeks apology from Rahul Gandhi for making remarks in Rafale Deal जेपी नड्डा बोले-राफेल डील पर बयान के लिए देश से माफी मांगे राहुल गांधी
Rafale Deal : भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राहुल गांधी से की माफी की मांग।  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • लोकसभा चुनावों के प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने राफेल डील पर दिया था बयान
  • कांग्रेस सांसद ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देकर कहा था 'चौकीदार चोर है'
  • जेपी नड्डा ने कहा कि राहुल ने देश के लोगों को गुमराह किया, इसलिए माफी मांगे

नई दिल्ली : अवमानना मामले में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को राहुल को हिदायत देकर में इस मामले में छोड़ दिया तो वहीं भाजपा कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि उनकी पार्टी राहुल गांधी के खिलाफ इस मामले को आगे नहीं ले जाना चाहती लेकिन उन्होंने देश के लोगों को गुमराह किया और इसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए। गत मई में लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान राहुल ने राफेल मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला देकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में 'चौकीदार चोर है' का बयान दिया था।

राहुल का यह बयान सामने आने के बाद भाजपा सांसद मिनाक्षी लेखी ने राहुल के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराया।  इस मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा, 'उसने राहुल गांधी के बयान को गंभीरता से लिया है। भविष्य में कोर्ट के बयान का हवाला देने से पहले राहुल गांधी को काफी सावधान रहने की जरूरत है।'   



अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद जेपी नड्डा ने कहा, 'सड़क से लेकर संसद तक राहुल गांधी और उनकी पार्टी ने देश के लोगों को गुमराह करने की कोशिश की लेकिन आखिर में सच्चाई की विजय हुई। मेरी इच्छा है कि राहुल गांधी देश के लोगों से माफी मांगे।' उन्होंने कहा कि शीर्ष अदालत ने राफेल पर पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी। शीर्ष अदालत का कहना है कि कोर्ट का आदेश पूरा पढ़े बिना उन्हें राजनीतिक बयानबाजी नहीं करनी चाहिए थी। कोर्ट ने उनसे भविष्य में ज्यादा सतर्क रहने की हिदायद दी है और हम उनके खिलाफ अवमानना के इसे मामले को और आगे नहीं ले जाना चाहते। 

राहुल गांधी मानहानि के कई मामलों का सामना कर रहे हैं। राहुल गांधी जुलाई महीने में एक्टिविस्ट गौरी लंकेश की हत्या को आरएसएस की विचारधारा से जोड़ने पर मुंबई की एक मजिस्ट्रेट के समक्ष होना पड़ा। इस पेशी के दौरान राहुल ने खुद को निर्दोष बताया। यही नहीं, महात्मा गांधी की हत्या के लिए कथित रूप से आरएसएस की विचारधारा को जिम्मेदार ठहराने के लिए कांग्रेस सांसद ठाणे के भिवंडी कोर्ट में मानहानि केस का सामना कर रहे हैं। लोकसभा चुनावों के दौरान भाजपा और आरएसएस के खिलाफ बयानबाजी के लिए राहुल गांधी पर बिहार और गुजरात की अदालतों में अवमानना के केस चल रहे हैं।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर