अलगाववादियों और मुख्यधारा के नेताओं को सत्यपाल मलिक की खरी खरी, किसी का बच्चा आतंकवाद में नहीं मारा गया

देश
Updated Oct 22, 2019 | 15:17 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Satyapal malik on hurriyat leaders: जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि मेनस्ट्रीम और अलगावादी नेताओं ने सिर्फ अपने स्वार्थ की राजनीति की। उन लोगों को आम कश्मीरियों से लेनादेना नहीं था।

satya pal malik
जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल हैं सत्यपाल मलिक 

मुख्य बातें

  • राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने अलगाववादियों पर साधा निशाना
  • सत्यपाल मलिक बोले- स्थानीय नेताओं ने सिर्फ आम लोगों को बेवकूफ बनाया
  • 'एक तरफ आम कश्मीरी युवाओं के हाथ में पत्थर होते थे और नेताओं के बच्चे विदेशों में पढ़ते थे'

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक बार फिर अलगाववादियों को खरीखोटी सुनाई। वो लगातार अलागवावादी नेताओं की आलोचना करते रहे हैं। सत्यपाल मलिक कहा करते थे कि अलगाववादी नेता शुरू से आम कश्मीरियों को भड़काते रहे हैं। उन्होंने कहा कि कश्मीर को कोई उठा के कहीं और नहीं ले जाएगा। यहां के निवासी ही इस राज्य के मुस्तकबिल का फैसला करेंगे। यहां के लोगों को सोचना होगा कि कौन उनके साथ खड़ा है और कौन उनके खिलाफ बोलता है। 

एक बार फिर सत्यपाल मलिक ने अलगाववादी नेताओं पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में जितने संगठन, संप्रदाय, हुर्रियत या मेनस्ट्रीम के नेता हैं वो लगातार आन लोगों को मरवाने का काम करते रहे हैं। इसमें से किसी भी नेता का बच्चा नहीं मारा गया, किसी का बच्चा आतंकवाद की गिरफ्त में नहीं आआ। आम आदमी को जन्नत का रास्ता दिखाइए और मरवा दीजिए यही होता रहा है। 


राज्यपाल ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों का राज्य की प्रगति के लिए आगे आना होगा। केंद्रीय मदद से न केवल वो अपने भविष्य को संवार सकते हैं बल्कि आने वाली पीढ़ियों के लिए बेहतर और गौरवमयी इतिहास दे सकते हैं। केंद्र सरकार पहले भी यहां के विकास के लिए प्रतिबद्ध रही है और जब से अनुच्छेद 370 को हटाया गया उसके बाद हालात में सकारात्मक बदलाव दिखाई दे रहा है। कश्मीर के युवाओं को अलगाववादी नेताओं से यह जरूर पूछना चाहिए कि जब वो तथाकथित आजादी की लड़ाई में शामिल थे तो उस वक्त उनके बच्चे कहां थे। सामान्य कश्मीरी लड़के के हाथ में वो पत्थर पकड़ा देते थे और उनके बच्चे विदेशों में उच्च शिक्षा हासिल करते थे। 

 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर