Jaipur: इन किसानों ने अपने आधे शरीर को जमीन के अंदर कर लिया दफन, जानें क्यों कर रहे ये प्रदर्शन

देश
 सृष्टि वर्मा
Updated Mar 02, 2020 | 17:39 IST

Jaipur News: जयपुर के एक गांव में किसानों ने अपनी भूमि के अधिग्रहण के खिलाफ अनोख सत्याग्रह आंदोवन शुरू कर दिया है। उन्होंने अपने आप को जमीन के अंदर आधा दफन कर प्रदर्शन शुरू कर दिया है।

SATYAGRAH AGAINST JDA
जयपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी के खिलाफ किसानों का सत्याग्रह  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • जयपुर में किसानों ने डेवलपमेंट अथॉरिटी के खिलाफ किया सत्याग्रह आंदोलन
  • भूमि अधिग्रहण के खिलाफ कर रहे हैं ये शांति प्रदर्शन
  • उनकी मांगें है कि भूमि अधिग्रहण कानून 2013 के तहत उन्हें उनकी जमीन का उचित मुआवजा मिले
  • अपने आधे शरीर को जमीन के अंदर दफना कर कर रहे हैं नारेबाजी

नई दिल्ली : राजस्थान में किसानों ने जमीन समाधि सत्याग्रह शुरू कर दिया है। उन्होंने जयपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी (JDA) के द्वारा अपनी भूमि के अधिग्रहण किए जाने के खिलाफ ये प्रदर्शन शुरू किया है। जयपुर के निंदर गांव का ये मामला है जिसमें किसानों ने जमीन के अंदर अपने शरीर को आधे दफन करके अथॉरिटी के खिलाफ सत्याग्रह आंदोलन करना शुरू कर दिया है।

बताया जाता है कि ये किसान पिछले 52 दिनों से ये मांग कर रहे हैं कि जमीन अधिग्रहण का आदेश वापस ले लिया जाए लेकिन जब उनकी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई तो उन्होंने आखिरकार शनिवार से जमीन समाधि सत्याग्रह शुरू कर दिया। 

किसान अपनी जमीन पर धरना प्रदर्शन कर रहे थे उनकी तीन मांगें थी जिसमें भूमि अधिग्रहण कानून 2013 के तहत उचित मुआवजे की मांग नहीं मानी जा रही थी। इसी के बाद सरकार का ध्यान इस ओर आकर्षित करने के लिए किसानों ने इस तरह के प्रदर्शन का आयोजन किया। 

 

 

शनिवार को करीब 21 किसानों ने निंदर बचाओ संघर्ष समिति के तहत प्रदर्शन शुरू किया और अपने आप को आध जमीन के अंदर दफन कर लिया। इस प्रदर्शन में महिलाएं भी शामिल थी और आधे शरीर को जमीन के अंदर दफना कर अथॉरिटी के खिलाफ नारे लगा रहे थे। 

समिति के कोऑर्डिनेटर नागेंद्र सिंह ने कहा कि सरकार ने हमारे मुद्दों पर कोई ठोस कदम उठाने से इनकार कर दिया जिसके बाद ही हम ये शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने पर मजबूर हुए। उन्होंने आगे कहा कि ये शांति प्रदर्शन तब तक जारी रहेगा जब तक सरकारी हमारी मांगें मान नहीं लेती है। 

किसानों का कहना है कि सरकार किसानों की समस्याओं को गंभीरता से नहीं लेती है और ना ही विधानसभा में हमारे मुद्दों को गंभीरता से उठाया जाता है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर