International Tiger Day: PM मोदी बोले- 'एक था टाइगर' से शुरू हुई कहानी 'टाइगर जिंदा है' तक खत्म ना हो

देश
Updated Jul 29, 2019 | 11:19 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

पूरी दुनिया में 29 जुलाई को अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस मनाया जाता है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली में देश में बाघों की वर्तमान जनसंख्या पर एक नई रिपोर्ट जारी की।

international tiger day 2019
अंतरराष्ट्रीय टाइगर डे  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस पर पीएम नरेंद्र मोदी ने जारी की रिपोर्ट
  • देश में वर्तमान में बाघों में संख्या में हुई है खासी बढ़ोतरी
  • ताजा रिपोर्ट के मुताबिक देश में वर्तमान में 2,967 बाघ
  • 2022 से चार साल पहले ही हुआ लक्ष्य पूरा

नई दिल्ली : भारत में बाघों की संख्या में 33 फीसदी बढ़ोतरी हुई है, वर्तमान में देश में कुल 2,967 बाघ हैं। बाघों की जनसंख्या पर जारी चौथे  रिपोर्ट से ये जानकारी सामने आई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस के अवसर पर नई दिल्ली में बाघों के आंकड़ों की नई रिपोर्ट जारी की। इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत ने चार सालों में बाघों की संख्या में दोगुनी बढ़ोतरी करने के लक्ष्य को समय से पहले ही पूरा कर लिया है। 

प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान आगे कहा कि जो कहानी ‘एक था टाइगर’ से शुरू होकर ‘टाइगर जिंदा है’ तक पहुंची है, वह यहीं खत्म नहीं होनी चाहिए। इस रिपोर्ट पर पीएम मोदी ने कहा कि पांच साल में संरक्षित इलाकों की संख्या 692 से बढ़ कर 860 हुई, सामुदायिक अभयारण्यों की संख्या 43 से बढ़ कर 100 से ऊपर हुई। 

 

 

चार साल पहले लक्ष्य पूरा
उन्होंने आगे कहा कि सेंट पीटर्सबर्ग में बाघों की संख्या 2022 तक दोगुनी करने का लक्ष्य तय किया गया था, हमने चार साल पहले ही यह लक्ष्य हासिल कर लिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अखिल भारतीय बाघ अनुमान रिपोर्ट 2018 जारी की और कहा कि 3,000 बाघों की संख्या के साथ भारत इनके लिए विश्व के सबसे सुरक्षित स्थानों में से एक है। 

9 साल पहले सेंट पीटर्सबर्ग ने लक्ष्य दिया था कि 2022 तक बाघों की संख्या दोगुनी होनी चाहिए, हमने चार साल पहले ही ये लक्ष्य पूरा कर लिया है। टाइगर सेंसस के ये नए आंकड़े हर भारतीय को गौरवान्वित करेगा। 

पहले नंबर पर है मध्य प्रदेश
नए आंकड़ों के मुताबिक मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा बाघों की संख्या 526 दर्ज की गई है, दबकि कर्नाटक दूसरे नंबर पर है। कर्नाटक में बाघों की वर्तमान संख्या 524 जबकि तीसरे नंबर पर उत्तराखंड में बाघों की वर्तमान संख्या 442 है। छत्तीसगढ़ औऱ मिजोरम में बाघों की संख्या में कमी देखी गई है जबकि ओडिशा में संख्या में कोई बदलाव नहीं देखे गए हैं। रिपोर्ट जारी करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत अब बाघों के लिए दुनिया में सबसे सुरक्षित जगह बन गया है।

बता दें कि 2014 में टाइगर की संख्या 2226 थी जबकि 2010 में इनकी संख्या 1706 थी। 2006 में देश में बाघों की संख्या 1411 थी। इस तरह से देखा जा सकता है कि साल दर साल देश में बाघों में संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर