चीन से तनातनी के बीच भारत ने पूर्वी लद्दाख में तैनात किए एयर डिफेंस मिसाइल सिस्‍टम

India deployed missile systems in Ladakh: वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ तनाव के बीच भारत ने पूर्वी लद्दाख सेक्‍टर में उन्‍नत श्रेणी की एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम तैनाती की है।

चीन से तनातनी के बीच भारत ने पूर्वी लद्दाख में तैनात किए एयर डिफेंस मिसाइल सिस्‍टम
चीन से तनातनी के बीच भारत ने पूर्वी लद्दाख में तैनात किए एयर डिफेंस मिसाइल सिस्‍टम  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • भारत ने पूर्वी लद्दाख सेक्‍टर में सतह से हवा में मार करने वाले मिसाइल सिस्‍टम की तैनाती की है
  • ये मिसाइल सिस्‍टम लड़ाकू विमानों और ड्रोन को कुछ ही सेकेंड में मारकर गिरा सकते हैं
  • चीन से तनाव के बीच भारत के इस कदम को सामरिक तौर पर काफी अहम माना जा रहा है

नई दिल्‍ली : वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन के साथ सैन्‍य टकराव के बीच भारत ने पूर्वी लद्दाख सेकटर में एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम की तैनाती की है। यह मिसाइल सिस्‍टम सतह से हवा में मार करने में सक्षम है। वास्‍तविक नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में चीनी लड़ाकू विमानों व हेलीकॉप्‍टर्स की गतिविधियों को देखते हुए भारत ने पूर्वी लद्दाख सेक्‍टर में इस मिसाइल सिस्‍टम की तैनाती की है।

PLA की कार्रवाई का दिया जाएगा मुंहतोड़ जवाब

समाचार एजेंसी एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से दी रिपोर्ट में कहा है कि चीनी वायु सेना के लड़ाकू विमानों या पीपुल्‍स लिबरेशन आर्मी के हेलीकॉप्‍टर्स की तरफ से किसी भी दुस्‍साहसपूर्ण कार्रवाई का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए इस मिसाइल सिस्‍टम की तैनाती की गई है। इसके अतिरिक्‍त यहां वायुसेना के लड़ाकू विमानों को भी किसी आपात परिस्थिति का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार रखा गया है।

LAC पर चीन की बढ़ती गतिविधियों पर नजर

यहां उल्‍लेखनीय है कि बीते करीब दो सप्‍ताह में वास्‍तविक नियंत्रण चीन की तरफ भी सुखोई-30 जैसे हेवी एयर सूपिरीऑरिटी एयरक्राफ्ट देखे गए हैं। चीनी हेलीकॉप्‍टर्स को LAC पर गलवान घाटी में सब सेक्‍टर नॉर्थ (दौलत बेग ओल्‍डी सेक्‍टर) के बेहद करीब उड़ान भरते देखा गया। अब वे फिंगर 3 एरिया की तरफ बढ़ रहे हैं। एलएसी पर चीनी गतिविधियों को देखते हुए ही भारत ने यहां उन्‍नत श्रेणी के त्‍वरित प्रतिक्रिया देने वाले सतह से हवा में मार करने वाली एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम की तैनाती की है।

मिसाइल लड़ाकू विमानों को सेकेंड्स में मार गिराने में सक्षम 

भारत के त्‍वरित प्रतिक्रिया देने वाली एयर डिफेंस मिसाइल में आकाश मिसाइल भी शामिल है, जो बहुत तेजी से उड़ान भरने वाले लड़ाकू विमानों और ड्रोन को भी कुछ ही सेकेंड में मार गिरा सकते हैं। ऊंचाई वाले पहाड़ी क्षेत्रों में इसकी तैनाती को लेकर इसमें अन्‍य कई बदलाव भी किए गए हैं। इसके अतिरिक्‍त सूत्रों का यह भी कहना है कि भारत को जल्‍द ही एक मित्र देश से उच्‍च क्षमता वाला डिफेंस सिस्‍टम मिलने जा रहा है, जिसकी तैनाती भी इस इलाके में की जा सकती है। इसके बाद भारत की रक्षा प्रणाली और मजबूत हो जाएगी और शत्रु पक्ष का इलाके में उड़ान भरना नामुमकिन हो जाएगा।

चीन से झड़प में 20 सैनिकों की शहादत के बाद बढ़ा तनाव

यहां उल्‍लेखनीय है कि वास्‍तव नियंत्रण रेखा पर भारत और चीन के बीच सैन्‍य गतिरोध की स्थिति अप्रैल के आखिर से ही बनी हुई है। मई में दोनों देशों की सेना के बीच कई झड़पें भी हुईं। गतिरोध दूर करने के लिए दोनों देशों के बीच बातचीत की प्रक्रिया अभी जारी थी कि 15 जून को हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए। इस घटना ने दोनों देशों के रिश्‍तों में खटास को और बढ़ा दिया। इस झड़प में हालांकि चीन के 40 से अधिक सैनिकों के भी हताहत होने की सूचना है, पर चीन ने आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की है।
 

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर