Hindu New Year 2020: आज से शुरू हुआ हिन्दू नववर्ष 2077

Hindu New Year 2020: हिन्दू नववर्ष 2077 का आरंभ हो गया है। इसे नव संवत्सर 2077 के नाम से भी जाना जाता है।

Hindu New Year
सांकेतिक फोटो (तस्वीर साभार- unsplash)   |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • हिन्‍दू नव वर्ष की शुरुआत हो चुकी है
  • हिन्‍दू नव वर्ष चैत्र मास की प्रतिपदा के दिन मनाया जाता है
  • हिन्दू कैलेंडर के अनुसार ही सभी व्रत एवं त्योहार आते हैं

नई दिल्ली: आज से हिन्‍दू नववर्ष की शुरुआत हो चुकी है। चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से विक्रम संवत 2077 यानी हिन्दू नववर्ष 2077 का प्रारंभ हो गया है। हिंन्दू कैलेंडर के अनुसार ही सभी व्रत एवं त्योहार आते हैं। सम्राट विक्रमादित्य के प्रयास से विक्रम संवत का प्रारंभ हुआ था। ग्रेगोरियन कैलेंडर के मुताबिक, हिन्‍दू नव वर्ष मार्च-अप्रैल के महीने से प्ररांभ होता है। इसे विक्रम संवत या नव संवत्सर कहा जाता है। कुल 60 तरह संवत्सर के होते हैं। विक्रम संवत में यह सभी संवत्सर शामिल रहते हैं। भारत में सांस्कृतिक विविधता के कारण अनेक काल गणनाएं प्रचलित हैं, लेकिन भारतीय कालगणना में सर्वाधिक महत्व विक्रम संवत पंचांग को दिया जाता है।

कब शुरू होता है हिन्दू नववर्ष

हिन्दू पंचांग के अनुसार चैत्र माह के शुक्ल प्रतिपदा के पहले दिन से हिन्दू नववर्ष शुरू हो जाता है। इसी के साथ नए विक्रम संवत 2077 भी शुरू हो हया। महाराष्ट में इस दिन को गुडी पड़वा और दक्षिण भारत में इसे उगादी कहा जाता है। हिन्‍दू नव वर्ष के दिन घरों में विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। इसी दिन से चैत्र नवरात्र भी आरंभ होते हैं तो ऐसे में कलश स्‍थापना कर देवी के नौ रूपों का आह्वान किया जाता है। कई जगह इस दिन घरों को हरे पत्तों से सजाया जाता है। ऐसी मान्यता है की सतयुग का प्रथम दिन भी इसी दिन शुरू हुआ था। एक अन्य मान्यता के अनुसार ब्रम्हा ने इसी दिन सृष्टि का सृजन शुरू किया था।

सूर्य-चंद्रमा के अनुसार गणना

दुनिया के तमाम देशों में नया साल व्यक्ति विशेष, घटना और वर्ग आदि जुड़ी किसी घटना पर आधारित होता है। वहीं, भारतीय नववर्ष की गणना और निर्धारण, तारों, ग्रहों, नक्षत्रों, चांद, सूरज आदि की गति का अध्ययन कर, छह ऋतुओं और 12 महीनों के हिसाब से तय हुई है। माना जाता है विक्रमादित्य के काल में सबसे पहले भारत से कैलेंडर अथवा पंचाग का चलन शुरू हुआ। इसके अलावा 12 महीनों का एक वर्ष और सप्ताह में 7 दिनों का प्रचलन भी विक्रम संवत से ही माना जाता है। 


देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर