कश्मीर में जो राज्यपाल होता है वो दारू पीता है, गोल्फ खेलता है, बाकि जगह के आराम से रहते हैं: मलिक [VIDEO]

देश
किशोर जोशी
Updated Mar 15, 2020 | 22:54 IST

अपने बयानों की वजह से पहले भी सुर्खियों में रह चुके जम्मू-कश्मीर के पूर्व गवर्नर और गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है।

Goa Governor Satya Pal Malik in Baghpat says the governor in Kashmir often drinks wine and plays golf
'कश्मीर में जो गवर्नर होने का मतलब दारू पीना और गोल्फ खेलना' 

मुख्य बातें

  • गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक बार फिर दिया अजीबोगरीब बयान
  • बागपत में एक कार्यक्रम के दौरान राज्यपाल बोले- कश्मीर में गवर्नर दारू पीते हैं औऱ गोल्फ खेलते हैं
  • बाकी जगह जगह जो राज्यपाल होता है वो आराम से रहते हैं- सत्यपाल मलिक

बागपत: अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक ऐसा बयान दिया है जो उनके लिए परेशानी खड़े कर सकता है। उत्तर प्रदेश के बागपत में एक जनसभा को संबोधित करते हुए जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल मलिक ने कहा, 'राज्यपाल का कोई काम नहीं होता है। कश्मीर में जो गर्वनर (राज्यपाल) होता है अक्सर वो दारू पीता है और गोल्फ खेलता है। बांकि जग जो गर्वनर होते हैं वो आराम से रहते हैं, किसी झगड़े में पड़ते नहीं हैं।'

बिहार में करवाए सुधार

सत्यपाल मलिक बिहार के भी राज्यपाल रह चुके हैं। इस सभा के दौरान अपने बिहार के राज्यपाल रहने के दौरान हुए अनुभव को साझा करते हुए मलिक ने कहा, 'मुझे बिहार में भेजा गया। वहां कोशिश की शिक्षा में सुधार करने की। वहां ऐसे-ऐसे कॉलेज थे कि 110 कॉलेज तो केवल नेताओं के थे जिनमें एक भी अध्यापक नहीं था। बीएड का दाखिला करते थे 30 लाख रुपये देते इम्तहान देकर डिग्री दे देते थे। मैंने सारे वो कॉलेज खत्म किए।'

पहले भी दे चुके हैं इसी तरह का बयान

 आपको बता दें कि मलिक पहले भी कुछ इसी तरह के बयान दे चुके हैं। पिछले साल जब कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया गया था तो उन्होंने बयान दिया था, 'मैं तीन हफ्ते पहले गोवा आया हूं. मैं कश्मीर से आया हूं. मैं अभी भी कश्मीर हैंगओवर से गुजर रहा हूं।  मैं 370 के हटने के बाद कश्मीर के अस्पतालों में गया, कहीं कुछ नहीं हुआ। वहां के लोग मुझे बताते थे कि वह न पकिस्तान के हैं, इंडिया के। उन्हें तो मौलवी यह सिखाते थे कि मरोगे तो जन्नत मिलेगी।  मैंने लोगों को समझाया, जन्नत तो कश्मीर ही है।'

अयोध्या के लिए की थी ये मांग

मूल रूप से यूपी के बागपत के रहने वाले मलिक बागपत से विधायक रहने के अलावा दो बार राज्यसभा और एक बार लोकसभा (अलीगढ़) के सांसद भी रह चुके हैं। कुछ समय पहले मलिक ने कहा था, 'पूरा देश अयोध्या में एक भव्य राम मंदिर के निर्माण के बारे में बातें कर रहा है लेकिन किसी ने यह मांग नहीं की है कि भगवान राम के वनवास के दौरान जिन लोगों ने उनका साथ दिया उनके नाम पर भी जमीन का आवंटन होना चाहिए। मैं चाहता हूं कि लोग केवट और शबरी की मूर्तियों को राम दरबार में स्थापित करने की मांग उठाएं।'

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर