Jammu-Kashmir:'डिस्ट्रिक्ट गुड गवर्नेंस' में जम्मू रहा सबसे ऊपर, डोडा नंबर दो पर, पहली बार जिला सुशासन सूचकांक 

जम्मू-कश्मीर सुशासन सूचकांक वाला देश का पहला केंद्र शासित प्रदेश बन गया है, जिला सुशासन सूचकांक तैयार करने की कवायद जुलाई 2021 में शुरू की गई थी।

JAMMU
'डिस्ट्रिक्ट गुड गवर्नेंस' में जम्मू रहा सबसे ऊपर 

District Good Governance Index:  केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में पहली बार जिला सुशासन सूचकांक (DGGI) की समग्र रैंकिंग में जम्मू जिला शीर्ष पर रहा। इसके बाद डोडा, सांबा, पुलवामा और श्रीनगर जिले हैं 
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा डिजिटल तरीके से जारी किया गया यह एक प्रारूप दस्तावेज है जिसमें 116 डेटा बिंदुओं के साथ 58 संकेतक वाले 10 शासन क्षेत्रों के तहत प्रदर्शन शामिल है। प्रत्येक जिले द्वारा डेटा संग्रह, जांच और सत्यापन की कठोर और मजबूत प्रक्रिया का पालन करते हुए मानदंड को अपनाया गया।

अलग-अलग श्रेणियों के तहत, जम्मू क्षेत्र के किश्तवाड़ जिले को कृषि क्षेत्र में, जम्मू को वाणिज्य और उद्योग तथा नागरिक केंद्रित शासन के दो क्षेत्रों में, मानव संसाधान विकास में पुलवामा, लोक स्वास्थ्य में रियासी, सार्वजनिक बुनियादी ढांचे में श्रीनगर, सामाजिक कल्याण में रामबन, वित्तीय समावेशन में गांदेरबल, न्यायिक और सार्वजनिक सुरक्षा में डोडा और पर्यावरण में शोपियां को शीर्ष स्थान दिया गया है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह वर्चुअली जम्मू-कश्मीर में जिला सुशासन सूचकांक को लॉन्च किया ये केंद्र शासित प्रदेश के लिए अपनी तरह का पहला सूचकांक है, सूचकांक को जम्मू-कश्मीर के 20 जिलों के लिए जारी किया गया है।

"जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा वापस दिया जाएगा"

वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर में परिसीमन की प्रक्रिया शुरू हो गई है और चुनाव जल्द ही होंगे। जम्मू-कश्मीर में जिला सुशासन सूचकांक के शुभारंभ पर बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि परिसीमन शुरू हो गया है और जल्द ही चुनाव होंगे। मैंने लोकसभा में आश्वासन दिया है कि जैसे ही जम्मू-कश्मीर में स्थिति सामान्य होगी, जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा वापस दिया जाएगा।

गृहमंत्री ने दुष्प्रचार करने के लिए नेताओं की खिंचाई की

शाह ने दुष्प्रचार करने के लिए नेताओं की खिंचाई की और कहा कि वे अपने राजनीतिक फायदे के लिए ऐसा कर रहे हैं। उन्होंने राजनीतिक दलों पर झूठे प्रचार में लिप्त रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि कई नेता झूठ बोल रहे हैं और दुष्प्रचार कर रहे हैं। मैं चाहता हूं कि युवा पूछें कि करोड़ों का निवेश आ रहा है, पर्यटक आ रहे हैं और वे अपने राजनीतिक फायदे के लिए दुष्प्रचार कर रहे हैं। लोकतंत्र जमीनी स्तर पर पहुंच गया है इसलिए वे यह प्रचार करते हैं और युवाओं को उनकी बात नहीं सुननी चाहिए।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर