महबूबा मुफ्ती पर डॉ जीतेंद्र सिंह ने साधा निशाना, बोले- केंद्र सरकार के फैसलों से बढ़ गई है बौखलाहट

देश
Updated Jul 29, 2019 | 13:15 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

राज्यमंत्री डॉ जीतेंद्र सिंह का कहना है कि जम्मू-कश्मीर के स्थानीय दल घोटालों और हवाला ट्रांजेक्शन में चल रही कार्रवाई से परेशान हैं लिहाजा वो 10 हजार अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों की तैनाती पर हल्ला मचा रहे हैं।

dr jitendra singh
पीएमओ में राज्यमंत्री हैं डॉ जीतेंद्र सिंह 

नई दिल्ली। हाल ही में केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में सीएपीएफ के 10 हजार से ज्यादा जवानों को भेजने का फैसला किया है। केंद्र सरकार के इस फैसले का घाटी के तमाम राजनीतिक दल विरोध कर रहे हैं। पीडीपी और एनसी जैसी पार्टियों का कहना है कि अगर धारा 370 और 35 ए को हटाने की कोशिश की गई तो वो बारूद से खेलने जैसा होगा। हालांकि केंद्र सरकार ने इसे रूटीन फैसला बताया।

पीएमओ में राज्य मंत्री डॉ जीतेंद्र सिंह ने कहा कि सबसे ज्यादा शोर पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता मचा रहे हैं उन्हें लग रहा है कि वो अपनी जमीन खो रहे हैं। 8-10 फीसद वोटों के आधार पर वो शासन किया करते थे। अब उन्हें लगता है कि अगर हालात में बदलाव हुए तो पिछले 30-40 वर्षों से जिस तरह के वो घाटी की सत्ता पर काबिज थे वो तस्वीर बदल जाएगी।


जीतेंद्र सिंह ने कहा कि जिस तरह से मोदी सरकार जम्मू-कश्मीर में हुए घोटालों, हवाला मामलों और जम्मू-कश्मीर बैंक से जुड़े मामलों की जांच करा रही है उसमें स्पष्ट है कि कुछ बड़े नाम लोगों के सामने होंगे और वहीं के स्थानीय दल इस बात से परेशान हैं और वो अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के स्थानीय दलों की यह आदत बन चुकी है उन्हें जब लगता है कि कोई फैसला उनके खिलाफ है तो इस तरह की आवाज उठाते रहते हैं। 

बता दें कि हाल ही में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कश्मीर का दौरा किया था और उसके बाद केंद्र सरकार ने 10 हजार केंद्रीय सुरक्षाबलों को भेजने का फैसला किया। इन  अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों की आवाजाही से इस बात के संकेत मिलने लगे कि सरकार धारा-370 और 35 ए पर आगे बढ़ने का फैसला कर सकती है। पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती इन दोनों विषयों पर जहरीले बोल बोलती रही हैं। लेकिन इस फैसले के बाद उनकी बौखलाहट और बढ़ गई। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर