CAA पर दिल्ली के पूर्व उप राज्यपाल नजीब जंग का बयान,सीएए को या खत्म करो या मुसलमानों को शामिल करो

शाहीन बाग में सीएए के विरोध के बीच दिल्ली के पूर्व उप राज्यपाल नजीब जंग का कहना है कि या तो सीएए को खत्म कर देना चाहिए या उसमें मुसलमानों को भी शामिल करना चाहिये।

CAA पर दिल्ली के पूर्व उप राज्यपाल नजीब जंग का बयान,सीएए को या खत्म करो या मुसलमानों को शामिल करो
दिल्ली के उप राज्यपाल रहे हैं नजीब जंग 

मुख्य बातें

  • दिल्ली के पूर्व राज्यपाल नजीब जंग ने सीएए को खत्म या मुसलमानों को शामिल करने की मांग की
  • सरकार से बातचीत के लिए आगे आने की गुजारिश की, संवादहीनता को खत्म करने की जरूरत
  • सीएए पर गतिरोध की वजह से अर्थव्यवस्था को हो रहा है नुकसान- नजीब जंग

नई दिल्ली। दिल्ली के पूर्व उप राज्यपाल नजीब जंग ने सीएए पर बड़ा बयान दिया है। वो कहते हैं कि या तो इस कानून को सिरे से खत्म कर देना चाहिए या मुसलमानों को भी शामिल करना चाहिए। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ वो जामिया मिलिया इस्लामिया पहुंचे थे और इस विषय पर अपनी राय रख रहे थे। वो कहते हैं कि सरकार जैसे ही मुसलमानों को भी शामिल कर लेगी सारा बवाल समाप्त हो जाएगा। अगर पीएम इस बिल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को बातचीत के लिए बुलाते हैं तो सारा विवाद समाप्त हो जाएगा।

नजीब जंग कहते हैं कि गतिरोध खत्म करने के लिए बातचीत होनी चाहिए। संवाद के जरिए ही समाधान निकलेगा। आप खुद सोच सकते हैं कि जब तक बातचीत नहीं होगी कोई भी रास्ता कैसे निकलेगा। कितने लंबे समय तक यह धरना यूं ही चलता रहेगा। आज अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंत रहा है, दुकानें बंद है, बसें पूरी संख्या में सड़कों पर नहीं है और इसकी वजह से नुकसान हो रहा है।


बता दें कि शाहीन बाग में पिछले 37 दिनों से दिन और रात 24 घंटे लोग सड़क पर इस कानून के खिलाफ डटे हुए हैं। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जब तक केंद्र सरकार इस विषय पर कुछ ठोस पहल नहीं करेगी वो धरने को समाप्त नहीं करेंगे। ये बात अलग है कि दिल्ली हाईकोर्ट ने इस संबंध में दिल्ली पुलिस को उचित कार्रवाई का आदेश दिया है। पुलिस मे प्रदर्शनकारियों से उस जगह को छोड़ने की अपील की थी। लेकिन प्रदर्शनकारियों ने अपील को नजरंदाज कर दिया। अब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में भी अपील दायर की गई है। 

 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर