VIDEO: राजनाथ सिंह ने भरी तेजस में उड़ान, ऐसा करने वाले बने देश के पहले रक्षा मंत्री

देश
Updated Sep 19, 2019 | 11:02 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज स्‍वदेशी निर्मित तेजस लड़ाकू विमान (Tejas fighter Jet) में उड़ान भरी। वह ऐसा करने वाले पहले रक्षा मंत्री बन गए हैं।

Rajnath Singh flies in Tejas
तेजस में उड़ान से पहले राजनाथ सिंह  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज तेजस में उड़ान भरी
  • वह ऐसा करने वाले देश के पहले रक्षा मंत्री बन गए हैं
  • तेजस भारतीय वायुसेना के लिए कई मायनों में खास है

बेंगलुरु : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज (गुरुवार, 19 सितंबर) स्‍वदेशी निर्मित हल्के लड़ाकू विमान (LCA) तेजस में उड़ान भरी। उन्‍होंने बेंगलुरु में एचएएल हवाईअड्डे से उड़ान भरी। अधिकारियों का कहना है कि वह इस विमान में उड़ान भरने वाले देश के पहले रक्षा मंत्री बन गए हैं। रक्षा मंत्री की तेजस में यह उड़ान इसके विकास में शामिल रहे अधिकारियों के मनोबल को बढ़ाने के लिए है।

रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि इससे इन विमानों को उड़ाने वाले भारतीय वायु सेना के पायलटों का मनोबल भी बढ़ेगा। तेजस में उड़ान भरने से पहले वायु सेना के अधिकार‍ियोंं ने रक्षा मंत्री को इस बारे में औपचारिक तौर पर ब्यौरा द‍ि‍या। तेजस को तीन साल पहले ही वायुसेना में शामिल किया गया। इसका अपग्रेड वर्जन भी जल्‍द आने वाला है। उनके साथ एयर वाइस मार्शल एन तिवारी भी रहे। उन्‍होंने करीब 30 मिनट तक तेजस में उड़ान भरी।

लैंड करने के बाद उन्‍होंने देश के वैज्ञानिकों की तारीफ की और भरोसा जताया कि वे उन्‍नत किस्म की तकनीकों का विकास कर सकते हैं। तेजस में उड़ान के अपने अनुभव को उन्‍होंने बेहतरीन बताया तो इसके संकेत भी दिए कि भविष्‍य में भारत इसक तकनीक का निर्यात भी कर सकता है। उन्‍होंने कहा कि आज दुनिया के अन्‍य हिस्‍सों से भी तेजस जैसे लड़ाकू विमान की मांग सामने आ रही है।

तेजस चौथी पीढ़ी का विमान है, जो भारतीय वायुसेना के लिए कई मायनों में खास है। यह हवा से हवा में, हवा से जमीन पर मिसाइल दागने में सक्षम है तो इसमें एंटीशिप मिसाइल, बम और रॉकेट भी लगाए जा सकते हैं। तेजस यूं तो सिंगल सीटर विमान है, लेकिन इसका ट्रेनर वेरिएंट डबल सीटर है। यह एक बार में करबी 54 हजार फीट तक की ऊंचाई पर उड़ान भर सकता है।

तेजस का निर्माण हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) ने किया है। इसे तेजस नाम पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी ने दिया था। संस्‍कृत के इस शब्‍द का अर्थ होता है अत्यधिक ताकतवर ऊर्जा, जो इसकी विशेषताओं से भी झलकता है। यह 2000 से अधिक किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है तो एक बार में करीब 3000 किलोमीटर की दूरी तय करने में सक्षम है। यह अपने साथ तकरीबन 13,500 किलोग्राम वजनी हथियार भी ले जा सकता है।

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...