MyGov Corona Helpdesk: सरकार ने लॉन्च किया WhatsApp नंबर, दूर करें गलतफहमियां

MyGov Corona Helpdesk : सरकार ने कोरोना वायरस ( COVID-19) से जुड़ी गलतफहमियों को दूर करने के लिए व्हाट्सएप चैटबोट बनाया है। फेक मेसेज और अफवाहें से बचने के लिए यहां पूछें सवाल।

कोरोना वायरस पर फेक न्यूज से बचने के लिए सरकार ने बनाया हेल्प डेस्क
कोरोना वायरस पर फेक न्यूज से बचने के लिए सरकार ने बनाया हेल्प डेस्क  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • देश भर में कोरोनो वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं, सबसे अधिक महाराष्ट्र में पाए गए हैं
  • पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से घर के अंदर रहने की अपील की है
  • सोशल मीडिया पर फैलाए जा रहे फेक मेसेज और अफवाहों से निपटने के लिए सरकार ने हेल्पडेस्क बनाया है

नई दिल्ली : कोरोना वायरस महामारी को लेकर सोशल मीडिया पर फेक मेसेज और निराधार अफवाहें सामने आती रही हैं। इसको लेकर भारत सरकार ने MyGov Corona Helpdesk बनाया है। इसे बनाने का उद्देश्य लोगों को इसके बारे में सही बातें बताना और उन्हें व्हाट्सएप, फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर गलत सूचना से दूर रखना है । सरकार ने कोरोना वायरस (COVID -19) से जुड़े मुद्दों को हल करने के लिए व्हाट्सएप चैटबॉट बनाया है।

नेशनल फार्मास्युटिकल्स प्राइसिंग अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NPPA) के ऑफिशियल हैंडल ने अपने ट्विटर हैंडल पर व्हाट्सएप नंबर जारी किया। और उस पर लिखा कि इस WhatsApp 9013151515 नंबर को सेव करें और आपको कोरोना से जुडे़ सवालों के जवाब अपने आप मिलेंगे।

कोरोना वायरस के लिए नेशनल हेल्पलाइन नंबर + 91-11-23978046 और टोल फ्री नंबर 1075 है। सरकार ने कोरोना वायरस पर चिंताओं को दूर करने के लिए एक ईमेल आईडी (ncov2019@gov.in) भी जारी किया था।

कोरोना वायरस से जुड़े सवालों के लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं। उन्हें एक्सेस करने के लिए यहां क्लिक करें।

देश भर में 191 मामलों की पुष्टि
देश भर में 191 कोरोनो वायरस मामलों की पुष्टि हो गई है जिसमें महाराष्ट्र में सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। महाराष्ट्र में 47 के साथ सबसे अधिक मामलों की संख्या है। केरल 27 पुष्टि वाले मामलों के साथ सबसे खराब स्थिति वाला दूसरा राज्य है। उत्तर प्रदेश में 19 मामलों की पुष्टि हुई है। दिल्ली से 12 मामले सामने आए हैं। हरियाणा और कर्नाटक ने क्रमशः 17 और 14 मामले दर्ज किए गए हैं।

पीएम मोदी ने देश वासियों को घरों में रहने की दी सलाह
पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र को संबोधित किया और देशवासियों से घर के अंदर रहने की अपील की है। उन्होंने 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को अपने घरों के अंदर रहने की सख्त सलाह दी। पीएम ने कहा कि यह सोचना सही नहीं है कि सब ठीक है और महामारी खत्म हो गई है। पीएम मोदी देश भर में स्वास्थ्य और एयरपोर्ट के अधिकारियों के लिए प्रशंसा कर रहे थे, जो कोरोनो वायरस महामारी से निपटने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं।

22 मार्च को 'जनता कर्फ्यू' का आह्वान
पीएम मोदी ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 22 मार्च को 'जनता कर्फ्यू' का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि यह दिन रविवार है, सभी नागरिकों को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक इस कर्फ्यू का पालन करना चाहिए। इस कर्फ्यू के दौरान, हम न तो अपने घरों को छोड़ेंगे, न ही सड़कों पर उतरेंगे और अपने समाजों या क्षेत्रों में घूमने से बचेंगे। केवल आपातकालीन और आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग ही अपना घर छोड़ सकते हैं। उन्होंने लोगों से कहा कि पैनिक होकर खरीदारी ना करें और खाद्य वस्तुओं और दवा की जमाखोरी से भी बचें।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर