Lockdown in Maharashtra: महाराष्ट्र के चार शहरों में 31 मार्च तक लॉकडाउन की घोषणा

Lockdown in Mumbai, Pune, Nagpur, Pimpri-Chinchwad: महाराष्ट्र में तेजी से फैलते कोरोना वायरस को देखते हुए उद्धव ठाकरे सरकार ने 31 मार्च तक मुंबई समेत चार शहरों में लॉकडाउन की घोषणा है।

 Workers install a banner on coronavirus pandemic outside a shop in Mumbai
Lockdown in Maharashtra: कोरोना वायरस के चलते महाराष्ट्र में लॉकडाउन  |  तस्वीर साभार: People

मुंबई : कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई, पुणे, नागपुर और पिंपरी चिंचवाड़ समेच चार प्रमुख शहरों में 31 मार्च तक तालाबंदी (लॉकडाउन) की घोषणा की है। लॉकडाउन में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाएं निलंबित रहेंगी। महाराष्ट्र में अब तक संक्रमित लोगों की संख्या 52 हो गई है। राज्य में गुरुवार रात तक 49 लोग कोरोना वायरस से पीड़ित थे। इसमें वह 64 वर्षीय व्यक्ति भी शामिल है जिनकी इस सप्ताह मौत हो गई थी। देश भर में अब तक संक्रमितों की संख्या 195 हो गई है। दुनिया भर में 2.5 लाख से अधिक लोग कोरोनो वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और 10,000 से अधिक लोग लोगों की मौत हो चुकी है। 2.5 लाख में से, 80,000 से अधिक मामले चीन में हैं और 33,000 से अधिक मामले इटली में सामने आए हैं।

सीएम उद्धव ठाकरे ने किया ऐलान
महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि आज मध्यरात्रि से 31 मार्च तक के लिए मुंबई, एमएमआर क्षेत्र, पुणे, पिंपरी चिंचवाड़ और नागपुर में सभी कार्यस्थल बंद किए जाएंगे। महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोरोना वायरस के तीन नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि मुंबई, पुणे और पिंपरी चिंचवाड़ में तीन मामलों की पुष्टि हुई है।

केवल अनिवार्य सेवाएं खुली रहेंगी
महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि आज मध्यरात्रि से 31 मार्च तक के लिए मुंबई, एमएमआर क्षेत्र, पुणे, पिंपरी चिंचवाड़ और नागपुर में सभी कार्यस्थल बंद किए जाएंगे। ठाकरे ने कहा कि यह बंद मुंबई, मुंबई मेट्रोपोलिटन क्षेत्र (एमएमआर), पुणे, पिंपरी चिंचवड़ और नागपुर में लागू होगा। उन्होंने बताया कि सरकारी कार्यालय में 25 प्रतिशत उपस्थिति रहेगी। ठाकरे ने कहा कि अधिकांश मरीज इन शहरों से हैं और उन्होंने विदेश की यात्रा की थी। ठाकरे ने कहा कि केवल अनिवार्य सेवाएं खुली रहेंगी जिसमें भोजन, दूध और दवाइयां शामिल हैं।

'सार्वजनिक परिवहन, बैंक खुले रहेंगे'
उन्होंने कहा कि बैंक खुले रहेंगे। सरकारी कार्यालय में उपस्थिति को बारी-बारी से मौजूदा 50 फीसदी से 25 फीसदी तक किया जाएगा। पहले 50 फीसदी हाजिरी की घोषणा की गई थी। मुख्यमंत्री ने मुंबई में सार्वजनिक परिवहन के बंद होने से इनकार किया। उन्होंने कहा कि ट्रेन और बसें शहर की जीवनरेखा है और उन्हें रोका नहीं जा सकता। मुझे यह कदम उठाने की सलाह दी गई। लेकिन ऐसा करने से उन कार्यस्थलों पर आवाजाही प्रभावित होगी जो शहर को आवश्यक सेवाएं मुहैया कराते हैं। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक परिवहन को बंद करने का फैसला अभी तक नहीं लिया गया है।

'लोगों को जीने के लिए घरों में रहना होगा'
उन्होंने कहा कि लोगों ने घरों में रहने की उनके अनुरोध को माना है और ट्रेनों तथा बसों में पहले की तरह भीड़ नहीं है। ठाकरे ने कहा कि मैं कंपनियों से यह सुनिश्चित करने की अपील करता हूं कि बंद की इस अवधि के दौरान उनके कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन दिया जाए। उन्होंने कहा कि केवल मानवता ही सभी मुश्किलों से जीतेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ ग्लोबल युद्ध जैसा है कि लोगों को जीने के लिए घरों में रहना होगा।

देश भर में सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में मामले
महाराष्ट्र में अभी तक कोरोना वायरस के 52 मामले सामने आए हैं और इस सप्ताह मुंबई में एक मरीज की मौत हो गई। महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोरोना वायरस के तीन नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि मुंबई, पुणे और पिंपरी चिंचवाड़ में तीन मामलों की पुष्टि हुई है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर