Congress-NCP meeting: जिन पर टिकी है शिवसेना की उम्मीद वो साधे हैं चुप्पी, कांग्रेस -एनसीपी बैठक टली

देश
Updated Nov 19, 2019 | 12:16 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Congress-NCP meeting postponed : महाराष्ट्र में सरकार बनाने का दावा शिवसेना बार बार कर रही है। लेकिन एनसीपी और कांग्रेस ने अपने पत्ते अभी तक नहीं खोले हैं।

congress ncp meeting postponed on tuesday shivsena in trouble
महाराष्ट्र में सरकार बनने पर सस्पेंस बरकरार 

मुख्य बातें

  • मंगलवार को कांग्रेस और एनसीपी के बीच होने वाली बैठक टली
  • शिवसेना को समर्थन देने के मुद्दे पर एनसीपी का रुख साफ नहीं
  • शिवसेना का दावा- दिसंबर के पहले हफ्ते तक बनेगी सरकार

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में क्या शिवसेना को एनसीपी और कांग्रेस का समर्थन हासिल होगा इसे लेकर सस्पेंस अभी भी बरकरार है। शरद पवार इस मुद्दे पर अभी साफ साफ कुछ नहीं बोल रहे हैं। लेकिन संजय राउत का मानना है कि सरकार शिवसेना की बनेगी और उनका सीएम भी होगा। ये बात अलग है कि शिवसेना के ही कुछ नेताओं का मानना है कि जिस तरह से शरद पवार का बयान आया है उससे उनकी मंशा साफ नहीं हो रही है। इसके साथ ही जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल पवार कर रहे हैं वो भी ठीक नहीं है, ऐसा लग रहा है कि वो महाराष्ट्र की राजनीति को प्रभावित कर रहे हैं।


कांग्रेस और एनसीपी की होने वाली बैठक अब बुधवार को होगी। इस संबंध में एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा इंदिरा गांधी की जयंती की वजह से कांग्रेस के नेता व्यस्त हैं, लिहाजा बैठक मंगलवार को मुमकिन नहीं है। इससे पहले शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि शरद पवार के बयान को समझने में कई जन्म लगेंगे इस तरह से उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधा। शरद पवार ने सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद कहा था कि महाराष्ट्र में सरकार गठन के मुद्दे पर कोई बातचीत नहीं हुई थी। दोनों लोगों ने हर एक पार्टी की स्थिति क्या है इस पर चर्चा हुई। 

शरद पवार की मंशा पर शिवसेना के कुछ नेताओं को भरोसा नहीं हो रहा है। शिवसेना का कहना है कि जिस तरह से शरद पवार लगातार सिर्फ एक बात कह रहे हैं कि कांग्रेस और एनसीपी एक साथ है इसकी वजह से पार्टी की साख पर सवाल उठ रहा है। शिवसेना के कुछ नेताओं का मानना है कि ये हो सकता है कि बीजेपी के साथ शिवसेना का मतभेद इस हद तक बढ़े कि वो एक दूसरे के करीब ना आ सकें और उसका फायदा संभावित चुनाव में उठा सकें। 

सोमवार को शरद पवार दिल्ली में थे, सोनिया गांधी से उनकी मुलाकात हुई। पवार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की और पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा कि जनादेश तो बीजेपी और शिवसेना के पक्ष में था सरकार बनाने का सवाल तो उन लोगों से ही पूछा जाना चाहिए। कांग्रेस और एनसीपी को जो जनादेश हासिल वो तो विपक्ष में बैठने का है। जब बार बार शिवसेना को समर्थन देने के मुद्दे पर सवाल किया गया तो वो सिर्फ यही कहते रहे कि इस विषय पर किसी तरह का फैसला नहीं हुआ है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर