पैरा कमांडो और आतंकियों के बीच हाथों से हुई थी नजदीकी लड़ाई, पैराशूट से LoC के पास उतरे थे सैनिक

देश
प्रभाष रावत
Updated Apr 06, 2020 | 22:51 IST

नियंत्रण रेखा के पास एक आतंकवाद रोधी अभियान में पैरा एसएफ की एक टीम ने 5 आतंकियों को ढेर कर दिया था। सेना ने ऑपरेशन में जान गंवाने वाले 5 जवानों के साहस की पूरी कहानी बताई है।

Indian soldiers martyred while fighting terrorists
आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हुए भारतीय जवान  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • हवाई ड्रोन से ट्रैक किए गए थे आतंकी, खोज में निकला था विशेष बल का दस्ता
  • पैरा स्पेशल फोर्स यूनिट के जूनियर कमीशंड ऑफिसर ने संभाली ऑपरेशन की कमान
  • नापाक इरादों से आए पाक समर्थित आतंकी हुए ढेर, सेना ने खोए 5 जवान

नई दिल्ली: बीते दिनों एलओसी पर भारतीय सेना की विशेष पैरा एसएफ यूनिट के आतंकवादी रोधी अभियान चलाने की खबर सामने आई थी। सेना की इस टीम ने एक 5 आतंकवादियों के समूह को भी खत्म कर दिया था और इस दौरान देश ने 5 वीर सपूत भी खो दिए। इस ऑपरेशन के बारे में सेना की ओर से विस्तृत जानकारी दी गई है और इस दौरान यह भी बताया गया कि आतंकियों और जवानों के बीच हाथों से नजदीकी लड़ाई हुई थी।

भारतीय सेना ने सोमवार को केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर किए गए ऑपरेशन के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि पाकिस्तान समर्थित 5 आतंकवादी मारे गए हैं और सेना के विशेष बल के 5 सैनिकों ने भी अपनी जान गंवा दी है। सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने कहा कि सैनिकों ने एलओसी पर एक साहसी अभियान चलाया और भारी बर्फ के बीच पाकिस्तान समर्थित घुसपैठियों से उनकी नजदीकी भिड़ंत हुई। सेना के जवानों ने पांच आतंकवादियों के पूरे समूह को बेअसर कर दिया।

घुसपैठियों के बारे में सूचना मिलने के बाद एलओसी के पास स्थित एक सबसे पेशेवर पैरा स्पेशल फोर्स यूनिट के एक जूनियर कमीशंड ऑफिसर ने अभियान की कमान संभाली और उनके साथ कमांडो ऑपरेशन का हिस्सा बने। यह घटना रविवार को हुई। प्रवक्ता ने कहा कि आतंकियों और पैरा जवानों के बीच हाथों से एक गहन लड़ाई हुई और सभी पांच आतंकवादियों को खत्म कर दिया गया।

हालांकि इस लड़ाई में सेना ने अपने पांच सर्वश्रेष्ठ सैनिकों को खो दिया, तीन मौके पर ही लड़ाई के दौरान शहीद हो गए जबकि अन्य दो को एयरलिफ्ट करके सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था और यहां उनकी जान चली गई।

ऑपरेशन के बारे में जानकारी के देते हुए भारतीय सेना के प्रवक्ता ने कहा, 'अभियान के दौरान विशेष बल के दस्ते का नेतृत्व सूबेदार संजीव कुमार ने किया और इसमें हवलदार डावेंद्र सिंह, पैराट्रूपर बाल कृष्ण, पैराट्रूपर अमित कुमार और पैराट्रूपर छत्रपाल सिंह शामिल थे। भारतीय सेना ने कार्रवाई में मारे गए बहादुर शहीदों को सलाम करती है और हर समय हर कीमत पर अपनी सीमाओं की रक्षा करना जारी रखेगी।'

शनिवार को पांच घुसपैठियों का पता लगाने के लिए ऑपरेशन शुरू किया गया था। इन आतंकियों को मानवरहित हवाई वाहन और अन्य गैजेट की मदद से ट्रैक किया गया था।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर