Corona की बेकाबू रफ्तार को रोकने के लिए ये है केंद्र सरकार का 5 Steps Plan

देश
रवि वैश्य
Updated Mar 28, 2021 | 07:34 IST

Rising Coronavirus Cases in India:देश के अहम राज्यों-महाराष्ट्र, बंगाल, दिल्ली समेत 12 राज्यों में बढ़ते कोरोना मामलों को कम करने के लिए केंद्र सरकार पांच प्वाइंट प्लान लेकर आई है। 

corona cases in india update
इस प्लॉन में प्रभावी तरीके से कोरोना टेस्टिंग में वृद्धि, प्रभावी आइसोलेशन आदि शामिल है 

देश में कोरोना की रफ्तार बेकाबू होती जा रही है जिसने केंद्र व राज्य सरकारों के साथ आम आदमी की पेशानी पर बल ला दिए हैं, जो माहौल दिख रहा है उसे लेकर आशंका जताई जा रही है कि ये कोरोना की दूसरी लहर तो नहीं (second wave of corona in india)इसको ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार अब 5 Steps Plan लेकर आई है जिसका मकसद देश में कोरोना संक्रमण को काबू में करना है, जिसमें प्रभावी तरीके से कोरोना टेस्टिंग में वृद्धि, प्रभावी आइसोलेशन आदि शामिल है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों को लेकर महाराष्ट्र, हरियाणा, तमिलनाडु, बंगाल, कर्नाटक, पंजाब और दिल्ली सहित 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की है, बैठक में कोरोन के प्रकोप को रोकने के लिए तेजी से प्रभावी कदम उठाने के लिए कहा गया है।

महाराष्ट्र, गुजरात, हरियाणा, तमिलनाडु, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, जम्मू और कश्मीर, कर्नाटक, पंजाब और बिहार के प्रतिनिधियों ने इसमें हिस्सा लिया।

 5 Steps Plan में शामिल है ये सब-

  1. जिन जिलों में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस के नए मामले सामने आ रहे हैं, उनमें बड़ी संख्या में लोगों को वैक्सीनेशन लगाया जाना चाहिए। इसके साथ ही वैक्सीन की भी कोई शॉर्टेज नहीं होनी चाहिए।
  2. संक्रमित लोगों की आइसोलेशन और कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग पर जोर देने का सुझाव दिया गया है। 72 घंटे में औसतन 30 करीबी लोगों को ट्रेस, टेस्ट और आइसोलेट किया जाएगा।
  3. लोगों की कोरोना टेस्टिंग को और बढ़ाया जाएगा, जिसमें से आरटीपीसीआर जांच प्रमुख होगी। कुल जांचों की 70 फीसदी जांच आरटी-पीसीआर तरीके से की जाएगी। 
  4. इंफ्रास्ट्रक्चर को अपग्रेड किया जाए और हेल्थ केयर वर्कर्स को फिर से सक्रिय होना चाहिए। मृत्यु दर को कम करने और मृत्यु की संख्या को कम करने के लिए टारगेटेड दृष्टिकोण लागू किया जाना चाहिए।
  5. हर समय कोरोना के प्रोटोकॉल्स को सुनिश्चित करने के लिए ध्यान दिया जाना चाहिए। विशेष रूप से भीड़भाड़ वाले स्थानों जैसे बाजार, अंतर-राज्यीय बस स्टैंड, स्कूल-कॉलेज, रेलवे स्टेशन आदि में। यह सुनिश्चित करने के लिए स्थानीय समुदाय की सक्रिय भागीदारी के साथ जन जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए, जिसमें नेताओं, धार्मिक प्रमुखों और अन्य को संगठित किया जाना चाहिए। 

पिछले साल मई के बाद देश में इस साल मार्च में भारत में साप्ताहिक संक्रमण और मृत्यु दर में सबसे अधिक वृद्धि देखी गई। इस महीने 46 जिलों से 71 फीसदी कोरोना केस और 69 फीसदी मौतें का आंकड़ा सामने आया है। महाराष्ट्र में कुल 36 जिलों में से 25 सबसे अधिक प्रभावित हैं। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर