कर्नाटक में बीजेपी ने पेश किया सरकार बनाने का दावा,येदियुरप्पा आज ही लेगें शपथ, बहुमत परीक्षण होगा चुनौती

देश
Updated Jul 26, 2019 | 12:06 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी सरकार गिरने के बाद बीजेपी ने प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है और येदियुरप्पा आज शाम को सीएम पद की शपथ लेंगे। 

BS Yeddyurappa
बीजेपी ने प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है 
मुख्य बातें
  • बीएस येदियुरप्पा शुक्रवार सुबह राज्यपाल वाजूभाई वाला से मिलने पहुंचे और सरकार बनाने का दावा पेश किया
  • उन्होंने गवर्नर से शपथ ग्रहण समारोह आज ही आयोजित करवाने का आग्रह किया, जिसे गवर्नर ने मंजूरी दे दी
  • बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में नई सरकार आज शाम 6 बजे शपथ लेगी
  • 16 विधायकों के बागी होने के बाद कुमारस्वामी सरकार अल्पमत में आ गई थी

बेंगलुरु। BS Yedurappa Karnataka New CM: कर्नाटक सरकार को लेकर पिछले कुछ दिनों से चल रही उहापोह पर विराम लगने के बाद ये सवाल सामने आ रहा था कि कर्नाटक की सत्ता क्या बीएएस येदियुरप्पा के हाथों आएगी जी हां बीजेपी ने सरकार गठन का दावा पेश कर दिया है, शुक्रवार को कर्नाटक को लेकर सत्ता के गलियारों में सुबह से ही हलचल शुरू हो गई थी।

एचडी कुमारस्वामी सरकार गिरने के तीन दिन कर्नाटक बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा शुक्रवार सुबह राज्यपाल वाजूभाई वाला से मिलने पहुंचे और बीजेपी की ओर से सरकार बनाने का दावा पेश किया। उन्होंने राज्यपाल से शपथ ग्रहण समारोह आज ही आयोजित करवाने का आग्रह किया, जिसे गवर्नर ने मंजूरी दे दी। 

येदियुरप्पा के नेतृत्व में नई सरकार आज शाम 6 बजे शपथ लेगी। राज्यपाल से मुलाकात करने से पहले पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा, 'मैं सरकार गठन का दावा पेश करने के लिए राज्यपाल से आज मुलाकात करूंगा और आज ही शपथ ग्रहण कराने का अनुरोध करूंगा।' 

 

 

 ऐसा इसलिए क्योंकि विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने गुरुवार को कांग्रेस के तीन बागी विधायकों को दलबदल विरोधी कानून के तहत अयोग्य ठहरा दिया और अभी 14 अन्य बागी विधायकों की किस्मत का फैसला होना बाकी है। ऐसे में सदन में विधायकों की संख्या 222 है और बहुमत के लिए बीजेपी को 112 के आंकड़े को छूना होगा। मौजूदा समय में बीजेपी के पास 106 विधायकों का समर्थन है और वो बाकी के छह विधायक वह कहां से जुटाएगी, यह बड़ा सवाल है जिसका जवाब बीजेपी को देना होगा।

16 विधायकों के बागी होने के बाद कुमारस्वामी सरकार अल्पमत में आ गई थी
गौरतलब है कि कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के 16 विधायकों के बागी होने के बाद एच डी कुमारस्वामी सरकार अल्पमत में आ गई थी। 23 जुलाई को कर्नाटक विधानसभा में हुए शक्ति-परीक्षण के दौरान कुमारस्वामी सरकार गिर गई थी एचडी कुमारस्वामी द्वारा पेश विश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 99 और विरोध में 105 मत पड़े थे।  

गुरुवार शाम को ही कर्नाटक के विधानसभा स्पीकर के.आर.रमेश कुमार ने कांग्रेस के दो विधायकों और एक निर्दलीय विधायक को 2023 में मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल खत्म होने तक अयोग्य करार दे दिया। अपना फैसला सुनाते हुए अध्यक्ष ने कहा कि वह अगले कुछ दिनों में शेष 14 विधायकों के मामले पर फैसला करेंगे।

कर्नाटक में काफी लंबे समय से राजनीतिक उठापटक चल रही थी, जिसका अंत राज्य की कुमारस्वामी सरकार के गिरने के बाद हुआ। कुमारस्वामी पिछले 14 महीने से कर्नाटक के मुख्यमंत्री रहे। उन्होंने कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन के बल पर सरकार चलाई। राज्य में भाजपा अकेली सबसे बड़ी पार्टी होने के बाद भी सत्ता से बाहर थी।

 

 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर