बाबुल सुप्रियो पर हमले के खिलाफ कोलकाता में भाजपा की रैली, कानून-व्यवस्था पर उठाए सवाल

देश
Updated Sep 20, 2019 | 16:36 IST

Babul Supriyo attacked in Jadavpur University : केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो पर जादवपुर यूनिवर्सिटी में हुए हमले के खिलाफ भाजपा ने शुक्रवार को कोलकाता में रैली निकाली। भाजपा ने कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाए।

BJP rally in kolkata against attack on Babul supriyo in Jadavpur university
बाबुल सुप्रियो पर जादवपुर विश्वविद्यालय में गुरुवार को हुआ हमला। 

मुख्य बातें

  • गुरुवार को एबीवीपी के कार्यक्रम में शामिल होने जादवपुर यूनिवर्सिटी पहुंचे थे बाबुल सुप्रियो
  • लेफ्ट समर्थक छात्रों ने सुप्रियो को समारोह स्थल तक पहुंचने नहीं दिया, केंद्रीय मंत्री के बाल खींचे
  • स्थिति नियंत्रण से बाहर जाते देख पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ पहुंचे विश्वविद्यालय

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के जादवपुर विश्वविद्यालय में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के साथ हुई मारपीट एवं बदसलूकी के विरोध में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शुक्रवार को कोलकाता में रैली निकाली। भाजपा नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाल की बिगड़ती कानून-व्यवस्था के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्य की पुलिस के खिलाफ नारे लगाए। भाजपा नेताओं ने इस घटना के लिए ममता सरकार को जिम्मेदार ठहराया। पश्चिम बंगाल के भाजपा प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि राज्य में कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। 

भाजपा प्रवक्ता एवं नेता नलिन कोहली ने कहा, 'सरकार के मंत्री बाबुल सुप्रियो के साथ जिस तरह से मारपीट और बदसलूकी की गई वह अत्यंत गंभीर एवं दुर्भाग्यपूर्ण है। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को जादवपुर यूनिवर्सिटी जाकर सुप्रियो को वहां से निकालना पड़ा। केंद्रीय मंत्री पर हमले से जाहिर है कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता इस तरह की हिंसा से बाज नहीं आएंगे।' सुप्रियो पर हमले के बाद केंद्र एवं प्रदेश स्तर के भाजपा नेता ममता सरकार को घेरने में जुट गए हैं।


सुप्रियो के खिलाफ हुई बदसलूकी के खिलाफा पश्चिम बंगाल भाजपा ने कोलकाता स्थित अपने पार्टी कार्यालय से सेंट्रल एवेन्यू तक एक बड़ी रैली निकाली और ममता सरकार के खिलाफ नारे लगाए। जादवपुर विश्वविद्यालय में गुरुवार को हुई इस घटना पर पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है। पुलिस का कहना है कि विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर की तरफ से नोटिस मिलने के बाद वह इस मामले में कार्रवाई करेगी।

बता दें कि केंद्रीय मंत्री सुप्रियो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जादवपुर युनिवर्सिटी पहुंचे थे लेकिन लेफ्ट समर्थक छात्रों ने उन्हें कार्यक्रम स्थल पहुंचने नहीं दिया। विश्वविद्यालय पहुंचे सुप्रियो के साथ छात्रों के साथ बहस हुई। इस दौरान छात्र उग्र हो गए और उनका बाल पकड़कर खींचा एवं उनके कपड़े फाड़ दिए। मंत्री ने जब इस प्रदर्शन का कारण पूछा तो छात्रों ने उन्हें काले झंडे दिखाए और 'वापस जाओ' के नारे लगाए। छात्रों ने सुप्रियो को 'बंधक' बना लिया और करीब छह घंटे तक उन्हें रोककर रखा। नियंत्रण हाथ से बाहर जाते देख राज्य के राज्यपाल को दखल देना पड़ा। राज्यपाल जगदीप धनखड़ विश्वविद्यालय आए और सुप्रियो को वहां से निकालकर ले गए। 

पश्चिम बंगाल में भाजपा और टीएमसी के बीच राजनीतिक रंजिश लोकसभा चुनावों के समय चरम पर थी। चुनाव प्रचार के दौरान राज्य के कई हिस्सो में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या हुई। भाजपा ने इन हत्याओं का आरोप टीएमसी पर लगाया। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी गत बुधवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी और गुरुवार को गृह मंत्री अमित शाह से मिलीं। ममता का कहना है कि वह राज्य की विकास योजनाओं पर चर्चा के लिए पीएम से मिलीं।

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...