कोटा से बेटी को लाने के लिए BJP विधायक को जारी किया था यात्रा पास, सस्पेंड हुए एसडीओ 

SDO suspended in Bihar: अनिल सिंह को गत 15 अप्रैल को यात्रा पास मिला और इसके बाद वह राजस्थान के कोटा से अपनी 17 साल की बेटी को वापस लाने के लिए रवाना हुए।

Bihar officer suspended for issuing pass to BJP MLA who brought back daughter from Kota
बिहार में एसडीओ हुए निलंबित।  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • भाजपा विधायक को यात्रा पास जारी करना एसडीओ को भारी पड़ गया
  • कोटा से बेटी को लाने के लिए विधायक को जारी किया था यात्रा पास
  • विपक्ष की आलोचना के बाद राज्य सरकार ने अधिकारी को सस्पेंड किया

पटना : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक विधायक को अपनी बेटी को कोटा से लाने के लिए यात्रा पास जारी करने पर एक नौकरशाह को निलंबित कर दिया गया है। अधिकारी की ओर से पास जारी करने का मामला विवाद का विषय बन गया था जिसके बाद सरकार ने अफसर को निलंबित करने का फैसला किया। विधायक की बेटी राजस्थान के कोटा में मेडिकल की तैयारी करती है। वहीं, विधायक का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान उनकी बेटी कोटा में अकेले पड़ जाने की वजह से अवसाद में चली गई थी।

हिसुआ विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं अनिल सिंह
राज्य सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से मंगलवार को जारी एक अधिसूचना में कहा गया कि नवादा जिले के सब डिविजनल ऑफिसर, सदर अनु कुमार को अनिल सिंह के पक्ष में पास जारी करने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है। सिंह हिसुआ विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं।  

मगध डिवीजन से जुड़े रहेंगे एसडीओ
अधिसूचना में कहा गया है कि एसडीओ को अंतर-राज्य यात्रा पर पास जारी करने की सुविधा का उल्लंघन करने का दोषी पाया गया है। लॉकडाउन के दौरान असाधारण परिस्थितियों में ही यात्रा पास जारी करने की अनुमति है। इसके अलावा अधिकारी के खिलाफ आगे भी अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की अनुशंसा की गई है। नोटिफिकेशन के मुताबिक अपने निलंबन के दौरान एसडीओ मगध डिवीजन के डिवीजनल कमिश्नर के कार्यालय से जुड़े रहेंगे।

कोटा में मेडिकल की तैयारी करती है विधायक की बेटी
गौरतलब है कि सिंह को गत 15 अप्रैल को यात्रा पास मिला और इसके बाद वह राजस्थान के कोटा से अपनी 17 साल की बेटी को वापस लाने के लिए रवाना हुए। सिंह की बेटी कोटा में मेडिकल की तैयारी करती है। विधायक का दावा है कि लॉकडाउन में अकेले पड़ जाने की वजह से उनकी बेटी अवसाद में चली गई थी इसलिए उसे वहां से निकालना जरूरी था।

विधायक के वाहन चालक को भी नोटिस
यह मामला सामने आने पर बिहार की विपक्षी पार्टियों ने नीताश सरकार को घेरना शुरू कर दिया क्योंकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने देश भर में अलग-अलग जगहों पर फंसे छात्रों को निकालने के कई राज्य सरकारों के फैसले को ठीक नहीं बताया है। विपक्ष ने आरोप लगाया कि विधायक को यात्रा पास इसलिए जारी किया गया क्योंकि वह सत्तारूढ़ गठबंधन से जुड़ा है। बता दें कि सिंह विधानसभा में भाजपा के चीफ ह्विप भी हैं। सिंह के वाहन चालक को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर