Lawyer vs Police clash: शर्त के साथ वकीलों की हड़ताल समाप्त,दोषी पुलिसकर्मियों पर एक्शन के लिए 10 दिन का समय

देश
Updated Nov 08, 2019 | 21:05 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Bar Council of India lawyers strike: तीस हजारी कोर्ट में वकील पुलिस झड़प के बाद वकील हड़ताल पर थे। लेकिन बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने हड़ताल खत्म करने का फैसला किया है।

lawyer police clash
बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने कुछ दिनों के लिए हड़ताल खत्म की 

नई दिल्ली। शर्तों के साथ बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने वकीलों की हड़ताल को खत्म करने का फैसला किया है। बार काउंसिल ऑफ इंडिया का कहना है कि 2 नवंबर की घटना के लिए जिम्मेदार पुलिस वालों के खिलाफ 10 दिन के अंदर कार्रवाई नहीं हुई तो अखिल भारतीय स्तर पर वकीलों की हड़ताल होगी। 
उच्चतम न्यायालय ने पुलिस और वकीलों के बीच हुयी झड़प के संदर्भ में शुक्रवार को कहा कि दोनों ही ओर से समस्या थी और दिल्ली की एक अदालत में पिछले सप्ताह हुये टकराव के विरोध में वकीलों की हड़ताल ऐसी घटनाओं से निबटने का हल नहीं है।न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति के एम जोसेफ की पीठ ने यह टिप्पणी उस वक्त की जब बार काउन्सिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा ने कहा कि तीस हजारी अदालत में वकीलों के प्रति पुलिस की ‘बर्बरता’ के बाद हालात ज्यादा खराब हो गये।


शीर्ष अदालत वकीलों की हड़ताल की आलोचना कर रही थी क्योंकि इससे उच्च न्यायालयों और निचली अदालतों में न्यायिक कार्य प्रभावित हो रहा है। पीठ का कहना था कि वकीलों द्वारा काम से अनुपस्थित रहने की तापमान 45 डिग्री हो जाने जैसी अनेक वजह होती है।तीस हजारी अदालत परिसर में पिछले सप्ताह ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी और वकील के बीच पार्किंग को लेकर हुआ विवाद दोनों पक्षों के बीच झड़प में बदल गया जिसमे 20 सुरक्षाकर्मी और अनेक वकील जख्मी हो गये। इस घटना के बाद से दिल्ली की सभी छह जिला अदालतों में वकील काम का बहिष्कार कर रहे हैं।

 

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर