Balrampur Gangrape: पीड़िता के परिजनों से मिले वरिष्‍ठ अधिकारी, दोषियों पर कड़ी कार्रवाई का दिया भरोसा

बलरामपुर पीड़िता के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गैंगरेप की पुष्टि की गई है। एसीएस होम अवनीश के अवस्थी और एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बलरामपुर पहुंच कर पीड़ित परिवार से मुलाकात की।

balrampur gangrape news
अपर मुख्य सचिव (गृह) ने बलरामपुर पहुंचकर पीड़िता के परिजनों से मुलाकात की!   |  तस्वीर साभार: ANI

नई दिल्ली : बीते दिनों उत्तर प्रदेश के हाथरस के अलावा बलरामपुर में भी एक गैंगरेप और हत्या की घटना सामने आई थी। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्‍य सचिव (गृह) अवनीश के अवस्थी और एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार रविवार को कथित गैंगरेप पीड़िता के परिवार के सदस्यों से मिलने बलरामपुर पहुंचे। अधिकारियों ने परिजनों को भरोसा दिलाया कि आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि 22 सितंबर को जिले में कथित तौर पर गैंगरेप के बाद एक 22 वर्षीय महिला की मौत हो गई थी। इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़ित परिवार से मिलने के लिए अधिकारीगण आज उसके गांव पहुंचे।

पीड़ित परिवार से मिलने के बाद क्या कहा-

अपर मुख्‍य सचिव (गृह) अवनीश के अवस्थी ने बलरामपुर में कथित सामूहिक बलात्कार पीड़िता के परिवार के सदस्यों से मिलने के बाद कहा कि परिवार ने जो भी बिंदु उठाए हैं हम इसका ध्यान रखेंगे। उनकी मुख्य मांग ये है कि कोई भी अपराधी मुक्त नहीं होना चाहिए और उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही होनी चाहिए। 

इस गैंगरेप व हत्या मामले को लेकर राज्य महिला आयोग ने डीएम-एसपी से रिपोर्ट तलब की है। इस मामले में कार्रवाई करते हुए अब तक 4 लोगों को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया है। जिला प्रशासन पीड़ित परिवार के हर संभव मदद का दावा कर रहा है।

बता दें कि 22 वर्षीय दलित युवती बी.कॉम दूसरे वर्ष की छात्रा थी और मंगलवार को अपने एडमिशन के लिए कॉलेज गई थी। पीड़िता के परिवार के मुताबिक, घर लौटते समय उसका अपहरण कर लिया गया और कम से कम दो लोगों ने उसका गैंगरेप किया।

आरोपियों ने रेप करने के बाद युवती का पैर और हड्डी तोड़ थी और गंभीर हालत में एक रिक्शे में युवती को घर भेज दिया। हालांकि पुलिस ने इस खंडन किया है। घर पहुंचने के बाद परिवार तुरंत पीड़िता को अस्पताल ले गया जहां उसकी मौत हो गई।

परिवार ने यह भी आरोप लगाया है कि युवती के साथ बलात्कार करने से पहले उसे नशा दिया गया था। पीड़िता की मां के अनुसार, जब वह घर वापस आई तो वह बोलने में असमर्थ थी और केवल इतना कह रही थी, 'मैं बहुत दर्द में हूं, मैं जिंदा नहीं बच पाऊंगी।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर