राम मंदिर मामला: अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई पूरी, फैसला रखा सुरक्षित

देश
Updated Oct 16, 2019 | 16:26 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Ram Mandir Ayodhya Case UDPATES: अयोध्या केस में जमीनी विवाद पर बुधवार का दिन अहम रहा इस विषय पर आज आखिरी दौर की सुनवाई पूरी हो गई है और फैसला सुरक्षित रख लिया गया है।

supreme court
अयोध्या टाइटल केस में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी  

नई दिल्ली। Ram Mandir Ayodhya Case UDPATES: अयोध्या टाइटल केस मामले में 40वें और अंतिम दिन की सुनवाई पूरी हो गई है। अब देश को उस ऐतिहासित फैसले का इंतजार है जिस मामले में 40 दिनों तक सुनवाई हुई। बुधवार को जिरह के दौरान वकीलों के व्यवहार से चीफ जस्टिस रंजन गोगोई इस हद तक आहत हुए कि उन्होंने कहा कि अब बहुत हो चुका है सुनवाई आज के ही दिन पूरी होगी।

इससे पहले 39 दिन की जिरह में हिंदू और मुस्लिम पक्षों की तरफ से दिलचस्प दलीलें दी गईं। 40वें दिन की सुनवाई की खास बात ये है कि मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन को जिरह के लिए एक घंटे का समय मिला था, जबकि दूसरे पक्षों को 45 से 55 मिनट का समय दिया गया था।

हिंदू महासभा की तरफ से राम मंदिर के संबंध में एक नक्शा पेश किया गया था। लेकिन मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने उस नक्शे को बकवास बताते हुए फाड़ दिया था। उनके इस आचरण पर सीजेआई रंजन गोगोई खफा भी हुए थे।

 

 

अब इस मुद्दे पर राजीव धवन ने सफाई देते हुए कहा कि जब उन्होंने कहा कि वो नक्शा फाड़ना चाहते हैं तो चीफ जस्टिस ने कहा कि आपकी मर्जी। उन्होंने चीफ जस्टिस की मर्जी को सहमति माना और नक्शे को फाड़ दिया।

 

 

इस संबंध में नक्शे के प्रकाशक ने कहा कि राजीव धवन ज्ञानवान हैं और वो इस बात को समझ रहे थे कि अगर नक्शे को अदालत के सामने रखा जाएगा तो उनका दावा कमजोर पड़ जाएगा। इस वजह से धवन ने नक्शे को फाड़ दिया। 


इस केस से जुड़े मुख्य पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा कि अदालत का फैसला जो भी हो सभी पक्षों को सम्मान करना चाहिए। वो देश की तरक्की के लिए ही सोचते हैं। वो यह मानते हैं कि विवाद किसी समस्या का समाधान नहीं होता है। अगर हम इस तरह के मनोभाव के साथ चलेंगे तो हिंदुस्तान की जो अपनी खासियत है उस पर असर होगा। इस बीच ये भी खबर है कि सुन्नी वक्फ बोर्ड अपना दावा छोड़ सकता है।

 

 

 

Ram Mandir Ayodhya Case (राम मंदिर मामला) UDPATES

  1.  सुप्रीम कोर्ट में जिरह के दौरान हाईवोल्टेज ड्रामा पर सीजेआई इस कदर भड़के कि कहा अगर ऐसे ही चलता रहा तो सुनवाई को खत्म मान लेंगे। 
  2.  हिंदू महासभा के वकील ने कहा कि तीनों गुंबदों के नीचे राम मंदिर लिखा हुआ था, हालांकि नए साक्ष्यों के पेश करने पर भी सीजेआई नाराज हो गए और कहा कि यह सब क्या हो रहा है। 
  3. राजीव धवन की इस हरकत पर सीजेआई रंजन गोगोई नाराज हो गए और कहा कि यह सब क्या हो रहा है। अगर ऐसे ही चलता रहा तो बेहतर है कि वो सुनवाई ही ना करें। 
  4. हिंदू महासभा के वकील विकास सिंह ने नक्शा दिखाकर कहा कि इसके जरिए राम जन्म स्थान के बारे में सही जानकारी मिलती है। उनकी इस दलील पर मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन नाराज हो गए और नक्शे को फाड़ दिया। बता दें कि जो नक्शा पेश किया गया था वो 1810 में बना था। 
  5. हिंदू महासभा की तरफ से वकील विकास सिंह ने अदालत के सामने नक्शा पेश किया। 
  6. हिंदू पक्ष के वकीलों ने जब 45 मिनट की तय समयसीमा को पार किया तो मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने टोकाटाकी की। 
  7. अदालत के सामने रामलला विराजमान के वकील अपना पक्ष रख रहे हैं। 
  8. अंतिम जिरह के लिए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई समेत सभी जज कोर्ट पहुंच चुके हैं।
  9. इस सुनवाई से संबंधित सभी पक्षों के वकील सुप्रीम कोर्ट में मौजूद
  10. सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से मध्यस्थता कमेटी के सदस्य श्रीराम पंचू के जरिए हलफनामा दिया गया है। 
  11. सुन्नी वक्फ बोर्ड द्वारा दावा छोड़ने के बारे में स्पष्ट नहीं है कि यह बात अदालत को बतायी गई है या नहीं।

मध्यस्थता कमेटी की तरफ से सुन्नी वक्फ बोर्ड ने हलफनामा देने का फैसला किया था  उसमें कुछ शर्ते भी लगाई गई थीं। लेकिन वक्फ बोर्ड के वकील शकील अहमज सैयद का कहना है कि बिना चर्चा कोई फैसला कैसे कर सकता है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर