'शबनम को अगर फांसी दी तो आएंगी आपदाएं', अयोध्या के मंहत परमहंस दास ने दिया बडा बयान

देश
किशोर जोशी
Updated Feb 22, 2021 | 09:47 IST

देश में पहली बार किसी महिला को फांसी होने जा रही है इसे लेकर अयोध्या के महंत परमहंस दास ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि यह सजा माफ होनी चाहिए।

 Saint Paramhans Das says Shabnam, death row murder's hanging to be postponed
शबनम को अगर फांसी दी तो आएंगी आपदाएं: महंत परमहंस दास 

मुख्य बातें

  • परिवार की हत्या करने वाली शबनम की फांसी की सजा पर अयोध्या के संत का बड़ा बयान
  • महंत परमहंस दास बोले- माफ होने चाहिए शबनम की फांसी की सजा
  • आजादी के बाद पहली बार होगी किसी महिला को फांसी की सजा

अयोध्या: अपने प्रेमी के साथ पूरे परिवार की निर्मम तरीके से हत्या करने वाली शबनम को जल्द ही फांसी दी जा सकती है। मथुरा जेल में इसे लेकर तमाम तैयारियां चल रही है। इस बीच शबनम की फांसी की सजा को लेकर अयोध्‍या की तपस्‍वी छावनी के महंत परमहंस दास ने बड़ा बयान दिया है। महंत दास ने कहा है कि शबनम का अपराध बहुत बड़ा है लेकिन महिला होने के नाते उनकी फांसी की सजा माफ होनी चाहिए। महंत परमदास ने कहा कि हिंदू शास्‍त्रों में महिला का स्‍थान पुरुष से बहुत ऊपर है इसलिए एक महिला को मृत्‍युदंड देने से समाज का भला नहीं होगा।

आपदाओं को मिलेगा न्यौता
टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए महंत परमदास ने कहा कि एक महिला को फांसी देने से समाज का भला नहीं होगा बल्कि इससे आपदाओं को न्यौता मिलेगा। उन्होंने कहा, 'हिंदू धर्म के गुरु होने के नाते मैं राष्‍ट्रपति से अपील करता हूं कि शबनम की दया याचिका को स्‍वीकार कर लें। जेल में अपने अपराध के लिए वह प्रायश्चित कर चुकी है। अगर उसे फांसी दी गई तो यह इतिहास का सबसे दुर्भाग्‍यपूर्ण अध्‍याय होगा।'

बेटे ने की अपील
इससे पहले शबनम के बेटे ने भी राष्ट्रपति से अपील कर उनकी मां की फांसी की सजा को माफ करने की मांग की थी। शबनम को लोअर कोर्ट से लेकर सर्वोच्च न्यायालय तक दोषी करार दे चुका है और किसी ने भी उनकी फांसी की सजा को कम नहीं किया है। ऐसे में शबनम के पास अब राष्ट्रपति से माफी का विकल्प बचा है। 

क्या है शबनम का दोष
15 अप्रैल 2008 को  को शबनम ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर ऐसी खौफनाक वारदात को अंजाम दिया था जिससे पूरा देश सन्न रह गया था। शबनम  ने अपने ही परिवार के सात लोगों की निर्मम तरीके से हत्या कर दी थी। शबनम के प्रेमी को भी फांसी की सजा मिली है। शबनम 2019 जुलाई से रामपुर की जेल में बंद है। फिलहाल मथुरा जेल ही यूपी में एकमात्र ऐसा स्थान है जहां महिलाओं को फांसी दी जा सकती है इसलिए शबनम की फांसी की तैयारियां मथुरा जेल में की जा रही है।


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर