पकड़े गए चीनी नागरिक ने उगले कई राज, दो वर्षों में भारत से चीन भेज चुका है 1300 सिमकार्ड

गुरुवार को सीमा सुरक्षा बल ने जिस चीनी नागरिक को हिरासत में लिया था उसने कई राज उगले हैं। यह चीनी नागरिक दो साल के भीतर 1300 सिम अपने देश भेज चुका है।

Arrested Chinese national smuggled 1,300 Indian SIM cards to China hidden in undergarments
BSF की कस्टडी में आरोपी चीनी नागरिक 

मुख्य बातें

  • बंगाल के मालदा में गिरफ्तार चीनी नागरिक ने किए कई खुलासे
  • आरोपी शख्स ने दो साल के अंदर 1,300 भारतीय सिम कार्ड चीन भेजे
  • तस्करी के लिए आरोपी करता था अंडरगारमेंट्स का इस्तेमाल

कोलकाता: भारत-बांग्लादेश की सीमा अवैध तरीके से पार करने की कोशिश में पकड़े गऐ चीनी नागरिक को लेकर अब कई खुलासे हो रहे हैं।  अधिकारियों द्वारा की गई पूछताछ में इस चीनी नागरिक ने कई अहम राज उगलते हुए बताया कि उसने और उसके साथियों ने अंडरगारमेंट्स में छिपाकर करीब 1,300 भारतीय सिम कार्ड को अपने देश भेजा। सिम कार्ड हासिल करने के लिए आरोपी ने नकली दस्तावेजों का इस्तेमाल किया।

सिम कार्ड के जरिए बैंक खाते होते थे हैक
चीन के हुबेई प्रांत के रहने वाले हान जुनवे को बीएसएफ की पेट्रोलिंग टीम ने गुरुवार को बंगाल के मालदा जिले से अरेस्ट किया था। अरेस्ट करने के बाद आरोपी को आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए बंगाल पुलिस को सौंप दिया गया। सीमा सुरक्षा बल ने जुनवे को एक वांछित अपराधी बताते हुए बयान जारी किया है। भारत से तस्करी कर ले गई सिम कार्ड का इस्तेमाल बैंक खातों को हैक करने और वित्तीय धोखाधड़ी के लिए किया जाता है।

अंडरगारमेंट्स में छिपाता था सिम
अपने बयान में बीएसएफ ने कहा, 'जुनवे एक वांछित अपराधी रहा है और उससे पूछताछ में हैरान करने वाला तथ्य सामने आया है कि वह फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल कर अब तक करीब 1,300 भारतीय सिमकार्ड यहां से चीन ले जा चुका है। जुनवे अपने साथियों की मदद से अंडरगारमेंट्स में सिम छिपाता था और उन्हें चीन भेजता था। उनका मकसद सिम का इस्तेमाल कर लोगों को धोखा देना तथा उन्हें ठग कर पैसे ऐंठना था। उसकी गिरफ्तारी बीएसएफ के लिए बड़ी उपलब्धि है।'

जुनवे ने अधिकारियों को बताया कि उसके कारोबारी साझेदार सुन जियांग को पिछले दिनों लखनऊ के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने धोखाधड़ी के एक मामले में गिरफ्तार कर लिया था जिसके बाद वह भारतीय वीजा नहीं बनवा पाया और भारत-बांग्लादेश सीमा से अपने देश में घुसने की फिराक में था।
बीएसएफ ने कहा कि प्रक्रिया के अनुसार तभी से जुनवे के खिलाफ इंटरपोल के ब्लू नोटिस को जारी कराने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गयी थी।

मिले संदिग्ध उपकरण
बीएसएफ ने दावा किया कि जुनवे के पास से बड़ी संख्या में संदिग्ध इलेक्ट्रॉनिक उपकरण मिले हैं। चीनी नागरिक ने जांचकर्ताओं को बताया कि वह पहले कम से कम चार बार भारत आ चुका है और दिल्ली के पास गुड़गांव में उसका एक होटल है।बीएसएफ द्वारा बृहस्पतिवार को जारी वीडियो बयान के अनुसार जुनवे ने कहा कि वह गलती से भारत में आ गया और वह लखनऊ एटीएस के समक्ष आत्मसमर्पण करना चाहता था। उसने कहा कि वह ई-कॉमर्स के व्यापार के संबंध में पहले भी भारत आ चुका है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर