Amritsar Train Accident: नवजोत सिंह सिद्धू ने पूरा नहीं किया वादा, लोगों ने किया घेराव

देश
Updated Sep 28, 2019 | 13:47 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

बीते साल 2018 में दशहरा के मौके पर रावण दहन कार्यक्रम के दौरान हुए हादसे के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने पीड़ित परिवारों से कई वादे किए थे।

Navjot Singh Sidhu
नवजोत सिंह सिद्धू (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • 19 अक्टूबर 2019 को दशहरा रावण दहन कार्यक्रम के समय हुआ था भीषण रेल हादसा
  • ट्रैक पर खडे़ थे लोग, रौंदते हुए निकल गई थी तेज रफ्तार ट्रेन
  • मरने वाले लोगों के परिवारों को सिद्धू ने दिया था मदद का आश्वासन

नई दिल्ली: बीते साल दशहरा के मौके पर अमृतसर में एक भीषण रेल हादसा हुआ था। दशहरा के त्योहार पर रावण दहन कार्यक्रम चल रहा था और इस दौरान लोग पास में मौजूद रेलवे ट्रैक पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे। रावण के जलने के बीच पटाखों का शोर इतना तेज था लोगों को ट्रैक पर आती ट्रेन का आभास नहीं हुआ और कई जिंदगियां कुर्बान हो गईं। ट्रेन बेहद तेज रफ्तार से गुजरी और कई लोगों को रौंदते हुए निकल गई। इस घटना को एक साल बीतने को है और पीड़ित परिवारों का कहना है कि उनसे हादसे के बाद जो वादे किए गए थे उन्हें पूरा नहीं किया गया है।

अमृतसर रेल हादसे में मारे गए लोगों के परिवार वाले अमृतसर (पूर्व) के विधायक नवजोत सिंह सिद्धू के घर पर इकट्ठे हो गए हैं और वह यहां कांग्रेस नेता से मिलने की मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि जो वादे उनसे हादसे के समय किए गए थे, वह अभी तक पूरे नहीं किए गए हैं। इसमें परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का वादा भी शामिल है लेकिन सरकारी नौकरी अभी तक किसी भी परिवार के सदस्य को नहीं दी गई जिसके चलते अमृतसर रेल हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों ने अमृतसर में नवजोत सिंह सिद्धू के घर के बाहर प्रदर्शन किया है।

अमृतसर में 19 अक्टूबर 2018 को यह बड़ा रेल हादसा चौड़ा बाजार में हुआ था। इस हादसे में करीब 59 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। हादसे के बाद घटना स्थल पर हड़कंप मच गया था और लोग रोते बिलखते अपने परिजनों को ढूंढ रहे थे।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर