जम्मू और कश्मीर में सभी लैंडलाइन बहाल, स्कूल और अस्पताल पूरी तरह से चल कर रहे हैं: गृह मंत्रालय

देश
Updated Sep 11, 2019 | 21:14 IST | टाइम्स नाउ ब्यूरो

जम्मू और कश्मीर के वर्तमान हालात पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अपडेट देते हुए कहा कि सभी लैंडलाइन कनेक्शन बहाल कर दिए गए हैं। स्कूल और स्वास्थ्य संस्थान पूरी तरह से काम कर रहे हैं।

Jammu and Kashmir
Jammu and Kashmir 

नई दिल्ली : मोदी सरकार द्वारा जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा दिए जाने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म किए जाने के एक महीने से अधिक समय बीतने के बाद गृह मंत्रालय (एमएचए) ने बुधवार को संकेत दिया कि राज्य में प्रतिबंधों में ढील के साथ स्थिति नॉर्मल हो रही है। जम्मू और कश्मीर की वर्तमान स्थिति पर एमएचए ने कहा कि सभी लैंडलाइन कनेक्शन बहाल कर दिए गए हैं। जबकि स्कूल और स्वास्थ्य संस्थान पूरी तरह से काम कर रहे हैं। सभी बैंक और एटीएम भी काम कर रहे हैं। जेएंडके बैंक से 1.08 करोड़ से अधिक की निकासी हुई है।

एमएचए अपडेट के मुताबिक सभी स्वास्थ्य संस्थान पूरी तरह से काम कर रहे हैं। आउट-पेशेंट-डिपार्टमेंट्स (ओपीडी) में 510,870 पेशेंट आए  और 15,157 की सर्जरी हुई। यह भी कहा कि कुपवाड़ा में पोस्टपेड मोबाइल सेवाएं बहाल कर दी गई हैं। बुनियादी जरूरतों की उपलब्धता पर सरकार ने कहा है कि पेट्रोलियम उत्पादों और खाद्यान्नों का पर्याप्त भंडार है और 6 अगस्त से आपूर्ति करने वाले 42,600 से अधिक ट्रकों की आवाजाही हुई। बताया गया था कि जम्मू और कश्मीर का नागरिक प्रशासन बुनियादी सेवाओं, आवश्यक आपूर्ति, संस्थानों के सामान्य कामकाज, गतिशीलता और लगभग पूर्ण कनेक्टिविटी सुनिश्चित कर रहा है।

एमईए सचिव (पूर्व) विजय ठाकुर सिंह ने कश्मीर पर पाकिस्तान के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि लोकतांत्रिक प्रक्रियाएं शुरू की गई हैं। प्रतिबंधों को लगातार कम किया जा रहा है। सीमा पार से आतंकवाद के खतरों को देखते हुए अपने नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अस्थायी प्रतिबंध और एहतियाती उपायों की आवश्यकता थी।

जम्मू-कश्मीर में 5 अगस्त से सुरक्षा कड़ी की गई थी और संचार व्यवस्था पर रोक लगाई गई थी जब सरकार ने भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 को संशोधित करने का फैसला किया था। सरकार ने राज्य को जम्मू और कश्मीर और लद्दाख के दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने का भी फैसला किया।

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...