शुभ काम से पहले इस कारण खिलाया जाता है दही-चीनी, जानिए इसके फायदे

हेल्थ
Updated Apr 26, 2019 | 20:06 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

शुभ काम के लिए घर से निकलते समय दही-चीनी खा कर निकलने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। आपको पता है ये केवल परंपरा नहीं बल्कि इसके कई फायदे भी हैं और ये साइंटिफिक्ली प्रूव भी हैं।

Curd
Curd 

नई दिल्ली. भारतीय संस्कृति में किसी भी शुभ काम पर जाने से पहले दही-चीनी खिलाया जाना बेहद शुभ माना जाता है। मान्यता है कि इसे खाने के बाद इंसान जिस भी काम के लिए जा रहा है वह जरूर पूरा होगा। नव दंपति के जीवन की शुरुआत अगर दही-चीनी खिला कर हो तो उनके जीवन में वैसी ही मिठास बनी रहती है। 

दही का सुफरफूड कि कैटेगरी में रखा गया है क्योंकि इसमें कैल्शियम, विटमिन बी-2, बी-12, पोटैशियम और मैग्नीशियम जैसे अहम विटमिन्स और मिनरल्स से भरी होने के साथ पाचन में बहुत अच्छी होती है। इसमें पाया जाने वाला नेचुरल लैक्सेटिव सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। 

आयुर्वेद में भी दही चीनी को खाने के फायदे बताए गए हैं। ज्योतिष के अनुसार दही का सफेद रंग चंद्रमा का कारक माना जाता है। चंद्रमा मन को शांत और स्थिर बनाने वाला ग्रह होता है। इसलिए उसे मजबूत बनाने के लिए दही खाना चाहिए। ज्योतिष मानता है कि सफेद चीज घर से खा कर जब कोई निकलता है तो उसका मन एकाग्र होता है । 

दही-चीनी साथ खाने के आयुर्वेदिक कारण
गर्मी में शरीर को ज्यादा से ज्यादा ठंडा रखने की जरूरत होती है। दही में मौजूद कई तत्व आपको कूल रखने का काम करते हैं। दही जब चीनी के साथ मिल जाता है तो ये एनर्जी देने का काम करता है। क्योंकि चीनी ग्लूकोज में तब्दील हो जाती है। दोनों जब साथ मिलते हैं तो इससे शरीर में पानी की कमी भी नहीं होती 

दही चीनी से पेट में प्रोबॉयोटिक्स जैसे अच्छे बैक्टिरिया भी पहुंचते हैं जो पेट की हर तरह की समस्या को दूर कर देते हैं। दही-चीनी से मिलने वाली पेट की ठंडक दिमाग को भी मिलती है और यही कारण है कि एग्जाम से पहले या इंटरव्यू पर जाने से पहले दही-चीनी खिलाया जाता है। 


बॉडी को करता है रिलैक्स 
आयुर्वेद भी मानता है कि दही की शीतलता तन और मन दोनों को शांत करती है। यही कारण है कि डिप्रेशन, तनाव, क्रोध या चिंता के समय दही खाना आपके कष्ट को कम करता है। ये तनाव घटाने वाली मानी जाती है। दही-चीनी का सेवन अगर रोज किया जाए तो वह मेमोरी बूस्ट करने वाली और कॉन्सनट्रेशन को बढ़ाने का काम करता है। 


डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने अथवा अपनी डाइट में किसी तरह का बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर